HomeFaridabadमहामारी से नहीं लड़खड़ाए कदम, 2021 में भी भरेंगे हौसलों का दम...

महामारी से नहीं लड़खड़ाए कदम, 2021 में भी भरेंगे हौसलों का दम : यशपाल यादव

Published on

साल 2020 ने हर किसी के व्यस्त जीवन की गति को धीमा कर दिया जिसके चलते हर कोई अपने अपने घरों में कैद हो गया। ऐसे में स्मार्ट सिटी फरीदाबाद में महामारी के चलते त्राहिमाम मचा और इसको नियंत्रण में लाने का जिम्मा आया जिला उपायुक्त यशपाल यादव के जिम्मे।

अभी उनके कार्यकाल की शुरुआत ही हुई थी कि अनचाहे मेहमान ने दरवाजा खटखटाया और उपायुक्त के आगे परेशानियों से भरा बक्सा रख दिया। जब महामारी के दौर के बारे में जिला उपायुक्त से बात की गई तो उनका कहना था कि वह समय कठिन था।

महामारी से नहीं लड़खड़ाए कदम, 2021 में भी भरेंगे हौसलों का दम : यशपाल यादव

महामारी ने जिस प्रकार पूरे भारत पर अपनी गाज गेरी है इस बात से कोई अनभिज्ञ नहीं है। फरीदाबाद में भी बिमारी के बढ़ते अंश और संक्रमण को देखा जा चुका है। बीते 2 माह की बात की जाए तो आए दिन 500 से ज्यादा मामले सामने आ रहे थे पर अभी की बात की जाए तो बीमारी पर नियंत्रण पाया जा चुका है।

महामारी से नहीं लड़खड़ाए कदम, 2021 में भी भरेंगे हौसलों का दम : यशपाल यादव

चाहे वह पानी की सुविधा हो या फिर आए दिन क्षेत्र में फ़ैल रही गंदगी उपायुक्त ने हर मुद्दे को लेकर सक्रीय होने की बात कही है। उनका कहना है क्षेत्र को अगर वास्तविक रूप में स्मार्ट बनाना है तो अधिकारियों के साथ साथ जनता को भी सक्रीय होने की जरूरत है।

महामारी से नहीं लड़खड़ाए कदम, 2021 में भी भरेंगे हौसलों का दम : यशपाल यादव

जब उनसे नए साल में होने वाली पार्टी और बड़ी दावतों के पुछा गया तो उन्होंने कहा कि सुरक्षा और समझदारी जरूरी है। साफ़ सफाई और सावधानी से ही बीमारी के चक्रव्यूह को भेदा जा सकता है। सामाजिक दूरी से ही हर संक्रमण के दर को तोड़ा जा सकता है। साथ ही साथ डीसी ने जनता को नए साल की भी शुभकामनाएं दी और हर किसी के स्वस्थ रहने की कामना की।

उनका कहना है कि बीते साल ने क्षेत्र से बहुत कुछ छीना है ऐसे में जो लोग छोड़कर गए हैं या फिर बीमारी के चलते अपनी जान गवा बैठे हैं उनके जाने की कसक दिल में बनी रहेगी। पर अब जरूरत है कि उन सभी फ्रोंटलाइन वर्कर्स का सम्मान किया जाए और सुरक्षा के साथ आगे बड़ा जाए।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...