Pehchan Faridabad
Know Your City

मुफ्त में मिली बीमारी तो मुफ्त ही होगा इलाज,सभी को फ्री में लगेगी कोरोना वैक्सीन

पिछले वर्ष जिस तरह जनवरी में कोरोना के संक्रमण ने तूफान मचा कर रख दिया था वह अभी भी एक साल बाद बरकरार हैं। वहीं एक साल बाद भी अगर कुछ बदला है तो कोरोना वायरस से निजात पाने के लिए वैक्सीन की तैयारियां। दरअसल, नववर्ष से ज्यादा खुशी लोगों को कोवैक्सीन आने की होगी।

नए साल के मौके पर जहां एक तरफ कोरोना वैक्सीन की तैयारियों को जायजा लेने के लिए आज देशभर में वैक्सीन का ड्राई रन किया जा रहा है। वही दूसरी तरफ इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन द्वारा एक बड़ा ऐलान कर दिया गया है।

जिसके तहत देशभर में सभी भारतीय लाभ उठा सकेंगे। दरसअल, मंत्री के ऐलान के मुताबिक अब प्रत्येक भारतीयों को कोरोना की वैक्सीन फ्री में लगाई जाएगी। इसके लिए किसी से कोई कीमत नहीं वसूल की जाएगी।

जानकारी के मुताबिक, केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के कुल 116 जिलों में 259 जगहों पर आज कोविड-19 की वैक्सीन का ड्राई रन किया जा रहा है। इसी कड़ी ने स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने खुद दिल्ली के ​जीटीबी अस्पताल जाकर वैक्सीन के डाई रन का जायजा लिया। जहां उन्होने अस्पताल से बाहर निकलते ही प्रत्येक भारतीयों के लिए नववर्ष के अवसर पर एक बड़ा ऐलान कर दिया।

वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा, मैं लोगों से अपील करता हूं कि वह किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान न दें। वैक्सीन की सुरक्षा सुनिश्चित करना हमारी प्राथमिकता है। पोलियो के वैक्सीन दिए जाने के दौरान भी विभिन्न प्रकार की अफवाहें फैलाई गईं थीं,

लेकिन लोगों ने टीका लगवाया और आज भारत अब पोलियो मुक्त हो गया है। उन्होंने कहा कि ऐसे ही भारतीयों को जरूरत है कि वह केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग पर भरोसा बनाए रखें और विभाग भी इस भरोसे का सम्मान पूरी निष्ठा से रखेगा।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने आगे बताया कि पिछली बार विभाग द्वारा 4 राज्यों में ड्राई रन चलाया था। पिछली बार हुई ड्राई रन के बाद हमने अपने दिशा-निर्देशों में थोड़ा सुधार किया गया है.।आज सभी राज्य और केंद्रशासित प्रदेश ड्राई रन कर रहे हैं। सबकुछ वैसे ही किया जा रहा है जैसे वैक्सीनेशन के दौरान किया जाएगा.

बस एक असली टीको को छोड़कर। सभी चीजों की जांच की जा रही है, लोग कमरे में कैसे इंतजार करेंगे। इसके साथ ही कोविड ऐप में डेटा कैसे दर्ज किया जाएगा। हमारी टीम देख रही है कि 30 मिनट के पोस्ट टीकाकरण के लिए कैसे मनाया जाएगा, क्या चिकित्सा आपात स्थिति में तैयारियां होती हैं।

डॉक्टर हर्षवर्धन ने बताया कि सभी टीकाकरण अधिकारियों का एक विशिष्ट नियम है और इसे 1,2,3,4 के रूप में गिना गया है. हमने 2,000 से अधिक मास्टर ट्रेनरों को प्रशिक्षित किया है। इसके साथ ही जिला और ब्लॉक स्तर पर प्रशिक्षकों को भी प्रशिक्षित किया गया है। 150 पेज की एक गाइडलाइन है, जिसके बारे में उन्हें प्रशिक्षित किया गया है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More