Pehchan Faridabad
Know Your City

प्रत्येक किसान हो मजबूत प्रगतिशील किसान निभाए यह जिम्मेदारी , कोई ना हो भ्रामित

फरीदाबाद : किसान आंदोलन को आज 38 वा दिन है इस आंदोलन से अर्थव्यवस्था के साथ लोगो की जान पर भी बन आई है इतना सब घट रहा है इस आंदोलन में उसके बाद भी कुछ सियासी लोग और कई गिने चुने किसान हरियाणा की सरहदों में जमे हुए है।

लेकिन इसके साथ ही प्रगतिशील किसान जमकर इस कृषि कानून के समर्थन में आगे आ रहे है इनके अनुसार कृषि कानून जो सरकार द्धारा लागु किये है वो किसानो के हित में है इससे किसानो को बहुत फायदा हो रहा है

दरअसल शुक्रवार को हरियाणा के विभिन्न जिलों से किसान अलग अलग हिस्सों से मुख्यमंत्रीके आवास पर पहुचकर उनसे मुलाकात की जिमसे उन्होंने कृषि कानून को हितकारी बताते हुए कहा की सरकार द्वारा लागु किया गये कानून किसानो के लिए अच्छा मुनाफा कमाने की सीढ़ी है ।

बता दे की मुलाकात के दौरान हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा की जो भी प्रगतिशील किसान सभी मिलकर किसानो को समझाए की किस प्रकार उनके लिए फायदा करता है एी क साथ दूसरे हाथ को मजबूत करता है वही किसानो को अब समझ आ गया है की जो लोग विरोध कर रहे है वो किसान नहीं है उस भीड़ मे जो लोग बैठे है वो मात्र अपना उल्लू सीधा कर रहे है

इस कानून का जो विरोध कर रहे है वो मात्र राजनीति कर रहे है इसमे मात्र उनका राजनैतिक स्वार्थ के चलते ऐसा कर रहे है हकीकत में यह बिल आर्थिक आज़ादी के रास्ते मे लगने वाले तालों की चाबी है जिससे किसान अपनी आथिर्क तंगी को दूर मर सकता है

जब जानी किसानों की राय

भिवानी जिले के खेड़ा गाँव के सरपंच राजेंद्र सिंह बताते है कि उनको इस कानून से छह फायदा हुआ है कि वो कही भी अपनी फसल बेच सकते है उनको जंहा अपनी फसल का दाम सही लगेगा वो वँहा अपनी फसल बेच सकते है

हिसार के रहने वाले प्रभुवाला के किसाब नरेश मेहता कहते है कि इस कानून का से हमारी सरदर्दी बहुत हद तक खत्म हुई है अब हम जो उगायेँगे वो खेतो में ही खरीद लिया जाएगा अब हमारी सब्जियां आदि बेचने की मुश्किल खत्म और हमे अब सारी फसल टैक्टर ट्रॉली से मंडियों में जाने की ज्यादा टेंशन नही होगी

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More