HomeTrendingकिसान आंदोलन : आखिर क्या है वजह की किसानों द्वारा बेची जा...

किसान आंदोलन : आखिर क्या है वजह की किसानों द्वारा बेची जा रही है हरी जलेबियाँ ?

Published on

सरकार के खिलाफ सैकड़ों किसानों का आक्रोश हर दिन एक नई तस्वीर के साथ सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। किसान हर मुमकिन प्रयास कर रहे हैं केंद्र सरकार को अपने मांग के लिए रिझाने की।

ऐसे में भारत बन्द से लेकर टोल टैक्स फ्री कराने जैसे कई तस्वीरें भारत के सामने प्रस्तुत की जा चुकी हैं। अब वही सोशल मीडिया पर हरी जलेबियों की एक ऐसी तस्वीर वायरल हो रही है जो शांति के प्रतीक के रूप में केंद्र सरकार को चेतावनी देने का कार्य कर रही है।

किसान आंदोलन : आखिर क्या है वजह की किसानों द्वारा बेची जा रही है हरी जलेबियाँ ?

दरअसल, सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हरी हरी जलेबी की फोटो पंजाब की है। जिसमें मोहाली के किसान पिछले कुछ दिनों से विशेष ‘हरी जलेबियां’ परोस रहे हैं। किसानों ने कहा विशेष मिठाई उनकी फसलों के रंग और उससे जुड़ी समृद्धि का प्रतीक है।

किसान आंदोलन : आखिर क्या है वजह की किसानों द्वारा बेची जा रही है हरी जलेबियाँ ?

वहीं एक प्रदर्शनकारी किसान जसवीर चंद ने कहा, “हम पिछले कुछ दिनों से हरी जलेबियां बांट रहे हैं। उन्होंने बताया हर रोज लगभग पांच क्विंटल मिठाई बांटी जाती है। उन्होने यह भी बताया कि मिठाई का हरा रंग हरित क्रांति के साथ-साथ शांति प्रतीक है।

इसके अलावा चंद के साथी बलदेव सिंह ने कहा, “हम एक महीने से अधिक समय से केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ शांतिपूर्वक विरोध कर रहे हैं।

किसान आंदोलन : आखिर क्या है वजह की किसानों द्वारा बेची जा रही है हरी जलेबियाँ ?

उन्होंने कहा कि शांतिपूर्वक विरोध करने के बावजूद भी सरकार अधिक बनी हुई है और किसानों की बात मानने को तैयार नहीं है। उन्होने कहा इसके बावजूद भी हम शांतिपूर्ण तरीके से विरोध जारी रखने के लिए दृढ़ हैं।

किसान आंदोलन : आखिर क्या है वजह की किसानों द्वारा बेची जा रही है हरी जलेबियाँ ?

गौरतलब मुख्य रूप से पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसान तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ एक महीने से अधिक समय से राष्ट्रीय राजधानी के विभिन्न सीमा बिंदुओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों के विरोध प्रदर्शन को एक महीने से ज्यादा समय भी बीत चुका है लेकिन परिणाम टस से मस होने को राजी नहीं है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...