Online se Dil tak

बारिश ने सताया तो कोहरे ने मुस्कुराया, किसानों को कोहरे से हुआ लाभ जानियें कैसे

इन दिनों अन्नदाता किसान सड़कों पर अपने लिए लड़ाई लड़ रहे हैं। किसान मौसम संग भी लड़ाई लड़ते रहते हैं लेकिन इस बार सरकार से जारी है। जिले में हुई तेज़ बारिश से किसान खुश हैं। दरअसल, बारिश के बाद सोमवार की सुबह ग्रामीण क्षेत्र में जबरदस्त कोहरा रहा। सुबह बूंदाबांदी होने के बाद कोहरा छट गया और इसके बाद फिर हल्की धूप दिखाई दी।

आम जनता को जहां कोहरे ने सताया है तो वहीँ किसानों को मुस्कुराया भी है। हलकी धूप निकल जाने के बाद, लोगों ने सर्दी से कुछ राहत महसूस की, हालांकि शाम को फिर बादल बरसने से ठंड बढ़ गई।

बारिश ने सताया तो कोहरे ने मुस्कुराया, किसानों को कोहरे से हुआ लाभ जानियें कैसे

मौसम कभी ठंडा तो कभी गर्म हो रहा है। फरीदाबाद में कल का अधिकतम तापमान 21 डिग्री व न्यूनतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बारिश और कोहरा से वैसे तो रबी की सभी फसलों को लाभ हुआ है, लेकिन सबसे ज्यादा गेहूं को हुआ है। रात को मौसम के तापमान में अचानक गिरावट के साथ ठंड का आसार बढ़ गया है।

बारिश ने सताया तो कोहरे ने मुस्कुराया, किसानों को कोहरे से हुआ लाभ जानियें कैसे
बारिश ने सताया तो कोहरे ने मुस्कुराया, किसानों को कोहरे से हुआ लाभ जानियें कैसे

किसानों के लिए कोहरा खुशियां लेकर आया। बारिश भी अच्छी पड़ी। सड़कों पर तो उदासी थी लेकिन खेतों में ख़ुशी थी। जब से गेहूं की बोआई की गई, तब से लेकर अब तक एक भी बारिश नहीं हुई थी, जिससे गेहूं में बदलाव धीरे-धीरे हो रहा था। अब बारिश हो चुकी है। बारिश होने के बाद जमीन में फुलावट आ गई।

बारिश ने सताया तो कोहरे ने मुस्कुराया, किसानों को कोहरे से हुआ लाभ जानियें कैसे

खेती के लिए बारिश बहुत ज़रूरी मानी जाती है। अभी अगले तीन से चार दिनों तक मौसम की स्थिति यथावत बने रहने की संभावना व्यक्त की गई है। किसान अब खरीफ की सब्जी घीया, तोरई, पेठा, करेला आदि भी लगाना शुरू कर देंगे। इन सब्जियों के लिए अब उपयुक्त मौसम भी आ गया है।

Read More

Recent