Online se Dil tak

सरकार ने 9वीं-12वीं के छात्रों के बैग का बढ़ाया भार, किताबों संग एक शीशी भी होगी जरूरी

फरीदाबाद : महामारी के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जहां शिक्षा विभाग द्वारा अभी भी केवल नौवीं से बारहवीं कक्षा के छात्रों को विद्यालय आने की अनुमति दी गई है। वही अभी भी पहली कक्षा से लेकर आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिए स्कूल आने पर पाबंदी बरकरार हैं।

शिक्षा विभाग ने उक्त छात्रों के लिए ऑनलाइन पढ़ाई को ही प्राथमिकता देने की बात स्कूल संस्थानों तक पहुंचाई है। ऐसे में स्कूल जाने वाले नौवीं से बारहवीं तक के छात्रों के लिए शिक्षा निदेशालय ने सतर्कता बरतने की बात कहते हुए

सरकार ने 9वीं-12वीं के छात्रों के बैग का बढ़ाया भार, किताबों संग एक शीशी भी होगी जरूरी
सरकार ने 9वीं-12वीं के छात्रों के बैग का बढ़ाया भार, किताबों संग एक शीशी भी होगी जरूरी

जरूरी दिशा निर्देश जारी किए हैं ताकि जो छात्र छात्रा फिलहाल स्कूल जा रहे हैं वह संक्रमण से अपनी सुरक्षा कर सकें।

इसी कड़ी में शिक्षा निदेशालय ने एक बार फिर स्कूल जा रहे हैं छात्रों के लिए सतर्कता बरतते जरूरी दिशा निर्देश पारित किए हैं। दिशा निर्देश के अनुसार अभी स्कूल में विद्यार्थियों को अपनी बैग में सैनिटाइजर की बोतल रखना अनिवार्य होगा।

सरकार ने 9वीं-12वीं के छात्रों के बैग का बढ़ाया भार, किताबों संग एक शीशी भी होगी जरूरी
सरकार ने 9वीं-12वीं के छात्रों के बैग का बढ़ाया भार, किताबों संग एक शीशी भी होगी जरूरी

जिससे समय-समय पर छात्र अपने हाथों को सैनिटाइज कर दे रह सके। वहीं प्राइवेट स्कूलों की बस में एक समय पर केवल 20 विद्यार्थियों को ले जाना अनिवार्य होगा। अन्यथा इससे ज्यादा छात्रों को बिठाने पर उक्त प्रबंधन के खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

इसके अलावा स्कूल में सैनिटाइजेशन से लेकर छात्रों की थर्मल स्क्रीनिंग के निर्देश भी दिए गए हैं। वही स्कूल आ रहे छात्रों को मेडिकल सर्टिफिकेट लाना भी जरूरी है। जो स्कूल दो मंजिल के हैं, उनके ग्राउंड फ्लोर पर ही विद्यार्थियों को बैठाने के लिए कहा गया है।

सरकार ने 9वीं-12वीं के छात्रों के बैग का बढ़ाया भार, किताबों संग एक शीशी भी होगी जरूरी
सरकार ने 9वीं-12वीं के छात्रों के बैग का बढ़ाया भार, किताबों संग एक शीशी भी होगी जरूरी

स्कूलों में आउटडोर गतिविधियां न कराने के निर्देश दिए गए हैं। छात्रों को अलग-अलग बैठकर ही अपना लंच करना होगा। वही स्कूल में बसों के प्रवेश करने और बाहर जाने के अलग-अलग गेट होने चाहिए।

जिला शिक्षा अधिकारी सतेंद्र कौर वर्मा ने बताया कि जिन स्कूलों में लाइब्रेरी हैं, उनमें विद्यार्थी या स्टाफ अधिक न हो। समिति संख्या में ही लाइब्रेरी में प्रवेश करें।

सरकार ने 9वीं-12वीं के छात्रों के बैग का बढ़ाया भार, किताबों संग एक शीशी भी होगी जरूरी
सरकार ने 9वीं-12वीं के छात्रों के बैग का बढ़ाया भार, किताबों संग एक शीशी भी होगी जरूरी

इसके साथ ही विद्यार्थी खाने-पीने की चीज लेकर न जाएं। उन्होंने कहा कि जितना हो सके जरूरी है कि स्कूल प्रबंधन छात्रों की पढ़ाई के साथ-साथ उनके स्वास्थ्य का भी पूर्ण ध्यान रखें।

Read More

Recent