HomeCrimeपत्नी से लड़ाई के चलते पति ने लगाई फांसी, पुलिस कर्मिचारियों ने...

पत्नी से लड़ाई के चलते पति ने लगाई फांसी, पुलिस कर्मिचारियों ने बचाई जान, सीपी ने दी प्रशंसा पत्र को मंजूरी

Published on

आए दिन लोगों का कहना है कि पुलिस अपना काम सही से नहीं कर रही है। पुलिस बिना वजह लोगों के चालान काट रही है। लेकिन बुधवार को पुलिसकमर्मियों की सूझ बूझ के चलते एक युवक को फांसी लगाने से रोका गया। जिसको लेकर पुलिस कमिश्नर की ओर से दोनों को प्रथम श्रेणी का प्रशंसा प़त्र मंजूर किया।
बुधवार देर शाम करीब 5ः30 बजे सिपाही हरपाल व एसपीओ सुरेन्द्र अपने थाना डबुआ क्षेत्र में गश्त कर रहे थे। तभी उन्हें सूचना प्राप्त हुई कि डबुआ कॉलोनी के ई ब्लॉक में एक संदीप नाम का युवक फांसी लगाकर अपनी जान देने की कोशिश कर रहा है।

पत्नी से लड़ाई के चलते पति ने लगाई फांसी, पुलिस कर्मिचारियों ने बचाई जान, सीपी ने दी प्रशंसा पत्र को मंजूरी


मामले की गंभीरता को देखते हुए दोनों पुलिसकर्मी युवक को बचाने के उद्देश्य से तुरंत प्रभाव से घटनास्थल पर पहुचें। मौके पर पहुंचे तो युवक कि पत्नी ने उसकी जान बचाने के लिए पुलिसकर्मियों से गुहार लगाई। उसने बताया कि उसके पति ने दरवाजा अंदर से बंद कर लिया है और गले में फंदा डालकर लटकने की कोशिश कर रहा है।

दोनों पुलिसकर्मियों ने युवक को दरवाजा खोलने के लिए कहा पर उसने दरवाजा खोलने से मना कर दिया। तो दोनों पुलिसकर्मियों ने बिना देर किए जोर से धक्का मारकर दरवाजा खोल दिया।

दरवाजा खुलते ही पुलिसकर्मियों ने देखा कि युवक फंदे पर लटक चुका है। सिपाही ने लटकते हुए युवक को अपने कंधो पर उठा लिया ताकि उसके गर्दन पर पड़ा दबाव कम हो सके। दुसरे पुलिसकर्मी ने चाकू से रस्सी को काट दिया और युवक को नीचे उतारकर जमीन पर लेटा दिया। जब युवक को नीचे उतारा गया तो वह मूर्छित हालत में था।

पत्नी से लड़ाई के चलते पति ने लगाई फांसी, पुलिस कर्मिचारियों ने बचाई जान, सीपी ने दी प्रशंसा पत्र को मंजूरी

पुलिसकर्मी ने युवक की छाती दबाकर उसके मुंह पर पानी के छीटे मारे ताकि उसे होश आ सके। कुछ समय प्राथमिक उपचार देने के पश्चात् युवक को होश आ गया। उसकी जान अब खतरे से बाहर थी।
हालात सामान्य होने के पश्चात् जब संदीप से पूछा गया कि उसने आत्महत्या करने की कोशिश क्यूं कि तो उसने बताया कि वह ऑटो चलाने का काम करता है। काम सही से नहीं चलने की वजह से उसका उसकी पत्नी के साथ झगड़ा हो गया था। वह उसे छोड़कर अलग मकान में रहती है। आपसी झगड़े से तंग आकर ही उसने जान देने की कोशिश की थी। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने पति-पत्नी दोनों को झगड़ा न करने और शांतिपूर्वक रहने की हिदायत दी। इसकी सूचना थाना प्रबंधक निरीक्षक संदीप कुमार को दी। जिस पर थाना प्रबंधक ने दोनों पुलिसकर्मियों के कार्य के लिए उनकी सराहना की।
पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह ने दोनों पुलिसकर्मियों को बुद्धिमता और सतर्कता से युवक की जान बचाने के लिए प्रथम श्रेणी का प्रशंसा पत्र मन्जूर किया।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...