Online se Dil tak

ट्रेक्टर पर सवार हो पलवल में किसानों की आवाज बुलंद करने पहुंचे पूर्व सांसद: अवतार भडाना

फरीदाबाद: पूर्व सांसद रहे अवतार सिंह भड़ाना ने बृहस्पतिवार को पलवल की धरती से केजीपी-केएमपी पर बडी संख्या में ट्रेक्टरों पर सवार हो किसानों की होंसला अफजाही करते हुए किसानों के पक्ष में हुंकार भरते हुए कहा कि देश तो आजाद हो गया लेकिन वर्षों बीत जाने के बावजूद आज भी किसान एक तरह से गुलामी में ही जी रहा है,

इसलिए इस बार 26 जनवरी को दिल्ली के लाल किले से किसानों की आवाज को बुंलद किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मैं किसान का बेटा पहले हूं राजनैतिक बाद में, इसलिए किसानों के हक की लड़ाई में कोई भी कुर्बानी देने को तैयार हूं।

ट्रेक्टर पर सवार हो पलवल में किसानों की आवाज बुलंद करने पहुंचे पूर्व सांसद: अवतार भडाना
ट्रेक्टर पर सवार हो पलवल में किसानों की आवाज बुलंद करने पहुंचे पूर्व सांसद: अवतार भडाना

उन्होनें कहा कि किसान आंदोलन शहीद भगत सिंह की धरती से शुरू हुआ है और वीर दादा कान्हा की धरती पलवल पर इसे पूरा किया जाएगा।’ पलवल में दिल्ली-आगरा राजमार्ग पर किसानों के धरने में पहुंचे पूर्व सांसद भड़ाना ने कहा कि गऊ, माता व ब्राह्मण का सम्मान सर्वोपरि है इसलिए किसान का साथ देना सौभाग्य की बात है।

आज हर वर्ग किसानों के साथ है। 36 बिरादरी किसान आंदोलन में शामिल हो रही है। पलवल वीरों की धरती है। फतेह का झंड़ा इसी धरती पर गाड़ा जाएगा। सरकार को जल्द से जल्द किसानों की मांगों को पूरा करना चाहिए।

ट्रेक्टर पर सवार हो पलवल में किसानों की आवाज बुलंद करने पहुंचे पूर्व सांसद: अवतार भडाना
ट्रेक्टर पर सवार हो पलवल में किसानों की आवाज बुलंद करने पहुंचे पूर्व सांसद: अवतार भडाना

उन्होंने कहा कि राजा नाहर सिंह व दादा कान्हा की कुर्बानी को भुलाया नहीं जा सकता। यहां के किसान मुगल सल्तनत के सामने नहीं झुके तो केंद्र सरकार क्या चीज है। सरकार को झुककर किसानों की बात माननी ही होगी।
बता दें कि किसान संगठनों के आह्वान पर ट्रेक्टर मार्च को लेकर बृहस्पतिवार को पूर्व सांसद अवतार भडाना अपने साथ सैकडों की संख्या में ट्रेक्टर लेकर पलवल पहुंचे और केजीपी पर ट्रेक्टर मार्च में भाग लिया।

भडाना ने स्वंय टेक्टर चलाकर किसानों की आवाज को बुलंद किया। वहीं पलवल में नेशनल हाईवे पर पिछले 36 दिनों से धरने पर बैठे किसानों ने बृहस्पतिवार को पलवल बार्डर से भी टे्रक्टर रैली के माध्यम अपनी हुंकार भरी। सैकडों की संख्या में ट्रेक्टरों ने पलवल केएमपी-केजीपी बॉर्डर से दिल्ली-गाजिपुर बॉर्डर के लिए ट्रेक्टर मार्च निकाल शक्ति प्रदर्शन किया।

Read More

Recent