HomePoliticsदिल्ली के पानी को गंदा कर रहा हैं हरियाणा की यमुना का...

दिल्ली के पानी को गंदा कर रहा हैं हरियाणा की यमुना का पानी : राघव चड्डा

Published on

पिछले दिनों ट्वीट कर यह जानकारी दी गई थी कि हरियाणा की तरफ से गंदा केमिकल वाला पानी दिल्ली में सप्लाई हो रहा है जिसके कारण भारी मुश्किल का सामना करना पड़ता है।

बावजूद इसके हरियाणा सरकार कोई ठोस कार्यवाही करने को राजी नहीं है और ना ही किसी भी प्रकार से इस समस्या को हल करने के लिए ठोस कदम उठा रही है।

दिल्ली के पानी को गंदा कर रहा हैं हरियाणा की यमुना का पानी : राघव चड्डा

इसी कड़ी में गुरुवार को दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने हरियाणा सरकार पर रोष प्रकट करते हुए और अपनी बात रखते हुए जल शक्ति मंत्री से इस समस्या का निराकरण निकालने को लेकर बात करने के लिए गजेंद्र सिंह शेखावत से अपील की।

शेखावत के अनुसार, हरियाणा राज्य द्वारा बिना शुद्धिकरण के गंदा पानी छोड़ने की प्रक्रिया को बढ़ाया जा रहा है, जिससे चलते रोहतक एक्स- रेगुलेटर में अमोनिया का स्तर 40 पीपीएम तक पहुंच गया है।

दिल्ली के पानी को गंदा कर रहा हैं हरियाणा की यमुना का पानी : राघव चड्डा

चड्ढा ने आगे यह भी बताया कि दिल्ली जल बोर्ड द्वारा लगातार पानी का सर्वे किया जा रहा है। इसके द्वारा पता चला है कि रोहतक एक्स रेगुलेट वहां का पानी न सिर्फ गंदे हरे रंग का हो गया है, बल्कि उसमें अमोनिया काफी खतरनाक स्तर पर है।

उपाध्यक्ष ने कहा कि इस कारण कई बार हमें अपने प्लांट भी बंद करने पड़ जाते हैं, जिसका असर दिल्ली में पानी की आपूर्ति पर भी पड़ता है।

दिल्ली के पानी को गंदा कर रहा हैं हरियाणा की यमुना का पानी : राघव चड्डा

राघव चड्ढा ने गुरुवार को बरोटा गांव और प्याऊं मनिहारी गांव का दौरा कर बताया कि इन जगहों पर अमोनिया का स्तर 6पीपीएम और 3पीपीएम तक था। उन्होंने आगे जानकारी देते हुए बताया कि में डीडी1 और डीडी2 दो नहरें हैं।

जिनसे दूषित पानी यमुना में पहुंचता है। डीडी2 नहर को डाई ड्रेन भी कहा जाता है, क्योंकि इसमें उद्योगों से निकला डाई ज्यादा मात्रा में होता है जिसमें भारी अमोनिया भी मौजूद होता है।

दिल्ली के पानी को गंदा कर रहा हैं हरियाणा की यमुना का पानी : राघव चड्डा

ये दोनों नहरें हरियाणा के पानीपत के शिमला गुजरन गांव के पास एक-दूसरे से मिलती हैं। शिमला गुजरन गांव से ये नहरें आगे बहते हुए खोजकीपुर गांव के पास यमुना में मिल जाती हैं। यमुना में प्रदूषण के बड़े केंद्रों में से यह एक है, जहां अक्सर अमोनिया का स्तर 25-40 पीपीएम हो जाता है।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...