Pehchan Faridabad
Know Your City

लॉकडाउन के दौरान छाई मायूसी को खुशी में तब्दील करेगी लोहड़ी, रही सही कसर अब लोग करेंगे पूरी

साल की शुरुआत होते ही त्योहारों की कतार लगी रहती है। जिसमे नव वर्ष के उपरांत जो त्यौहार आता है वह होता है लोहड़ी का त्यौहार। जिसे बड़े धूमधाम से और ढोल नगाड़ों के साथ भांगड़ा करते हुए मनाया जाता है। वही जिस घर में गत वर्ष के दौरान बेटे की शादी हुई हो या नववधू ने प्रस्थान कर ससुराल को महका दिया हो।

इसके अलावा जिस घर आंगन में नवजात की किलकारियों से पूरा घर झूम उठा ही उस परिवार के लिए तो यह त्योहार और भी ज्यादा खास हो जाता है। इस त्यौहार को पंजाब व पंजाबी वर्ग में इतना धूमधाम के साथ मनाया जाता है कि देखने से मानो प्रतीत होता है कि कोई शादी का घर हो।

परंतु पिछले वर्ष लोगों के जीवन में उथल-पुथल मचा चुका कोरोना वायरस का संक्रमण अभी भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है और लोगों की आर्थिक मंदी पर अपने पैर जमाए बैठा हुआ था।

परंतु इस बार 13 जनवरी को जहां लोहड़ी का पर्व है वही इस दिन न तो कोई कैटरर्स-हलवाई खाली है, न टेंट वाला और न ही फोटोग्राफर। इसकी वजह है कोविद का समय

इस बात से सभी परिचित है कि पिछले वर्ष 2020 में जहां 3 महीने का लगातार लॉक डाउन लगाया गया था इसके चलते सैकड़ों शादियां रद्द हो गई थी। जिन्हें इस वर्ष संपन्न कराया गया तो कुछ अभी भी इसी वर्ष संपन्न होनी है। हालांकि हालात अभी भी काबू में नहीं है यही कारण है

कि संक्रमण के कारण अभी भी शादी विवाह जैसे समारोह में केवल 50 से 100 लोग को आने की अनुमति दी गई थी। परंतु अब लोगों ने संक्रमण के साथ जीना सीख लिया और उसे हराने के लिए और इससे बचने के लिए सारे हथकंडे अपनाना शुरू कर दिया है।

जिसका असर यह है कि अब संक्रमण का असर धीमा पड़ता हुआ दिखाई दे रहा है। इस धीमी गति को खुशी में तब्दील करने के लिए अब तो लोहड़ी पर्व ने ऐसे सभी लोगों को धूम-धड़ाका करने का अवसर दे दिया है।

दरसअल, विवाह समारोह में जो कसर रह गई थी, वो अब लोहड़ी में पूरी करने की तैयारी में लोग जुट गए हैं। दरअसल, शादी की खुशी में भी अपने सगे संबंधियों को मिठास ना पहुंचने के कारण अब दूर-दूर से भी लोगों को अपनी खुशी में शामिल करने का मन बना चुके लोग लोहड़ी पर जमकर तैयारी कर रहे हैं।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि मार्केट नंबर एक व पांच के अलावा सेक्टर एरिया में रेवड़ी, मूंगफली और गजक की दुकानें एक-दो दिन पहले ही सज गई थीं। गिफ्ट पैक की भी खरीदारी हो रही है।

लोगों ने एक, दूसरे के घर जाकर गिफ्ट देने का सिलसिला भी शुरू कर दिया है। वैसे तो यह सिलसिला कल तक जारी रहने वाला है, परंतु लोगों के चेहरों पर अभी से खुशी देखने को मिल रही है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More