Online se Dil tak

पर्यावरण प्रदूषण कम करने मे कारगर साबित होंगे इलेक्ट्रिक वाहन, मिली पहली इलेक्ट्रिक कार।

जिला उपायुक्त यशपाल यादव ने कहा कि आने वाले समय में पर्यावरण प्रदूषण कम करने के लिए हमें इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देना होगा। इसकी शुरुआत जिला प्रशासन को मिली पहली इलेक्ट्रिक कार के साथ हो गई है।

मंगलवार को लघु सचिवालय से इलेक्ट्रिक कार को हरी झंडी दिखाने के मौके पर अपने संदेश में उपायुक्त ने कहा कि अक्षय ऊर्जा विभाग द्वारा प्रदेश के चार जिलों फरीदाबाद, गुरुग्राम, करनाल व पंचकूला को इलेक्ट्रिक वाहन उपलब्ध करवाए गए हैं। जो कि सराहनीय पहल है।

पर्यावरण संरक्षण के लिए हमें अधिक से अधिक संख्या में इलेक्ट्रिक वाहनों का प्रयोग करना होगा। उन्होंने बताया कि जिले का पहला इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन भी लघु सचिवालय परिसर में शुरू किया गया है। इस 3.2 किलोवाट के चार्जिंग स्टेशन पर नि:शुल्क चार्जिंग की जा सकती है।

पर्यावरण प्रदूषण कम करने मे कारगर साबित होंगे इलेक्ट्रिक वाहन, मिली पहली इलेक्ट्रिक कार।
पर्यावरण प्रदूषण कम करने मे कारगर साबित होंगे इलेक्ट्रिक वाहन, मिली पहली इलेक्ट्रिक कार।

सरकार ने प्रदेश में 500 स्थानों पर ई-चार्जिंग स्टेशन लगाने का निर्णय लिया है। इसका उद्देश्य प्रत्येक तीन किलोमीटर पर ई-चार्जिंग स्टेशन की सुविधा उपलब्ध करवाना है। उन्होंने बताया कि हाइवे पर भी ई-चार्जिंग स्टेशन उपलब्ध करवाने के पूरे प्रयास किए जा रहे हैं।

ई-वाहनों के आने से पेट्रोल व डीजल से चलने वाले वाहनों की खपत काफी कम होगी। इन वाहनों पर सरकार की तरफ से सब्सिडी भी दी जा रही है। जिला प्रशासन को इलेक्ट्रिक कार मिली है, वह टाटा कंपनी की नेक्सन ईवी कार है।

Read More

Recent