Pehchan Faridabad
Know Your City

फरीदाबाद के इस युवक ने जैविक खेती में बनाया अपना करियर, कमाते हैं लाखो

आजकल के युवा अपना करियर अपनी सहूलियत और रूचि से चुनते हैं , ऐसा ही एक उदहारण जिले के चंदावली गांव में देखा गया। गांव का एक प्रगतिशील युवा एक अच्छी जॉब की जगह खेती करता हुआ नज़र आया।

चंदावली गाँव के इस युवा का नाम संदीप यादव हैं , इन्होने अग्रवाल कॉलेज से एमए तक पढ़ाई की हैं , लेकिन एक अच्छी सी नौकरी की जगह वह आजकल खेती करते हैं। उन्हें पौधों से पहले से ही लगाव था जिसके चलते उन्होंने खेती करना शुरू किया।

उनके पिता जी नाहर सिंह यादव हरियाणा पुलिस में उपनिरीक्षक पद से सेवानवृत्त हुए हैं और उन्हें भी बागवानी का बहुत शौक हैं। वैसे वह रियल एस्टेट का काम भी करते हैं और 2009 में उन्होंने अटाली गांव में ढाई एकड़ जमीन खरीदी थी जिसमे से डेढ़ एकड़ जमीन अब वह बागवानी के लिए उपयोग कर रहे हैं।

संदीप यादव अपने खेतो में जैविक सब्जियां भी उगाते हैं , जिसे दिल्ली की चाणक्यपुरी मंडी में महंगे दामों में ख़रीदा जाता हैं। आजकल अपने स्वास्थ्य को लेकर लोगो में जागरूकता देखी गयी हैं जिसके चलते लोगो में जैविक सब्जियों के खाने का चलन हैं। लोग केमिकल वाली सब्जी न लेकर जैविक सब्जी लेना ज्यादा पसंद करते हैं।

मार्किट में कम जैविक सब्जियों के किसानो के चलते इसके दाम बहुत ज्यादा हैं। ऐसे में संदीप यादव की जैविक सब्जियाँ विदेशी उच्चायोग में जाती हैं और इन सब्जियों को पकाकर दूसरे देश से आने वाले मेहमानो को परोसा जाता हैं।

उन्होंने अपनी अटाली गांव में डेढ़ एकड़ की जमीन पर गाजर, टमाटर रेड – येलो , टमाटर चेरी, लेटुस , पोचो का जैविक खेती करती हैं और बागवानी के रूप में अनार केसरी, थाई अमरूद फरवरी 2020 में लगाए थे , अभी तक इसका उत्पादन नहीं हुआ हैं। इनकी सहायता के लिए पलवल सैनी नर्सरी की संचालक रेवती सैनी सहयोग करती हैं। कोई किसान इनसे जैविक कृषि की खेती के बारे में जानकारी लेता हैं तो वह उसकी पूरी मदद करते हैं।

संदीप ने जल सरंक्षण का भी बहुत अच्छे से ध्यान रखा हुआ हैं , उन्होंने अपने खेतो में ड्रिप सिस्टम से सिंचाई करने के लिए पाइपलाइन बिछाई हुई हैं। पानी ज्यादा खर्च न हो इस बात का पूरा ध्यान रखा गया हैं।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More