Homeफरीदाबाद में सीज़न का सबसे घना कोहरा, दूर क्या पास का भी...

फरीदाबाद में सीज़न का सबसे घना कोहरा, दूर क्या पास का भी नहीं दिखाई दे रहा

Published on

जिले में ठंड के साथ – साथ कोहरा भी अधिक होता जा रहा है। ज़बरदस्त ठंड साथ में घना कोहरा लोगों को परेशान कर रहा है। कड़ाके की सर्दी लोगों की कंपकंपी छुड़ा रही है।शहर कोहरे में लिपटा हुआ है। बुधवार रात से शुरू हुई कोहरे ने बृहस्पतिवार को भी ट्रैफिक की रफ्तार पर ब्रेक लगाए रखा। हालांकि दोपहर बाद सूर्य देव के दर्शन होने पर लोगों ने राहत की सांस ली।

इतना घना कोहरा हो रहा है कि दूर का तो छोड़ए पास का भी नहीं दिखाई दे रहा है। कोहरा अधिक होने के कारण दृश्यता 10 मीटर से भी कम बनी रही। इससे सड़क पर चलने वाले लोगों को काफी परेशानी हुई।

फरीदाबाद में सीज़न का सबसे घना कोहरा, दूर क्या पास का भी नहीं दिखाई दे रहा

कोहरे के साथ – साथ ओस भी पड़ रही है। महामारी के मामले भी ठंड में लगातार बढे हैं। कोहरे के कारण बाजार में लोगों की आवाजाही कम रही। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दिनों में कोहरा अभी और परेशान करेगा। बृहस्पतिवार को न्यूनतम तापमान 4 डिग्री और अधिकतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

फरीदाबाद में सीज़न का सबसे घना कोहरा, दूर क्या पास का भी नहीं दिखाई दे रहा

डॉक्टरों ने लोगों को सावधानी बरतने के लिए लोगों को कहा है। दृश्यता काफी कम रही कल। इस वजह से सड़कों पर वाहन चालकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। दोपहर को धूप खिलने से आमजन को राहत मिली। मौसम विज्ञानियों के अनुसार अभी कुछ दिन और कोहरा छाया रहेगा।

फरीदाबाद में सीज़न का सबसे घना कोहरा, दूर क्या पास का भी नहीं दिखाई दे रहा

जिले में लगातार प्रदूषण भी बढ़ता जा रहा है। कल सुबह छह बजे के आसपास घना कोहरा छाना शुरू हो गया जो 11 बजे तक रहा। सुबह नौकरी के लिए निकले आमजन को अपने वाहनों की लाइटें जलानी पड़ी

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...