HomeUncategorizedशादी समारोह पर लगा कोरोना का ग्रहण, ठप हुआ कारोबार तो सैकड़ों...

शादी समारोह पर लगा कोरोना का ग्रहण, ठप हुआ कारोबार तो सैकड़ों हुए बेरोजगार

Published on

कोरोना वायरस के चलते शादी-समारोहों के साथ करोड़ों रुपए के कारोबार पर भी असर पड़ा है। 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगने के बाद से आज लॉक डाउन का चौथा चरण शुरू हो चुका है।

जिसकी मियाद दो सप्ताह बढ़ेगी यानी कि चौथे चरण की समाप्ति 31 मई तक रहेगी। शादी से जुड़े लोगों की माने तो जिले में अक्षय-तृतीया, पीपल पूर्णिमा पर सैकड़ों विवाह होने थे।

जिनमें अधिकांश शादियां स्थगित हो गई है। शादी न होने से पंडित, ब्यूटी पार्लर, हेयर सैलून, लाइट डेकोरेशन, डीजे, टैंट, मैरिज पैलेस, सुनार, कैटरिंग, घोड़ी, फोटोग्राफर, हलवाई, बैंडवाला समेत छोटे-मोटे कामगारों के रोजगार पर भी असर पड़ा है।

डीजे-बैंड की बुकिंग हो गई कैंसल

शादियां स्थगित होने के साथ ही डीजे वालो के जो बुकिंग आई थी। उनमें से ज्यादातर रद्द हो चुकी हैं। कुछ आगामी तारीख के लिए टल गई हैं। डीजे का काम शादियों में ज्यादातर होता है, लेकिन इस बार उनका काम पिट गया है, बैंड-बाजों वालों की बुकिंग निरस्त हो चुकी हैं।

फोटोग्राफी बुकिंग हो गई रद्द

शादी समरोह में चार चांद लगाने में सक्षम फ़ो़टो ग्राफी का खास महत्व होता है। क्योंकि एक फोटोग्राफर अपने कैमरों में शादी समारोह के लम्हों को सदा के लिए कैद कर लेता है। लेकिन बावजूद कोरोना वायरस ने इनका कारोबार में चौपट कर दिया है।

टैन्ट संचालकों पर पड़ा असर

टैन्ट हाउस में कई लोगों को रोजगार मिलता था। लेकिन शादी समारोह के अभाव में हलवाई, लाइट समेत अन्य लोगों को जो रोजगार भी नहीं रहा। ऐेसे में काफी लोगों की हालत काफी खराब हो गई है।

Latest articles

हरियाणा के बसई गांव से पहली महिला आईएएस बनी ममता यादव

यूपीएससी क्लियर करना बहुत बड़ी उपलब्धि की श्रेणी में आता है और जब कोई...

हरियाणा के रोल मॉडल बने ये दादा पोती की जोड़ी टीचर दादाजी के सहयोग से 23 साल में ही बनी आईएएस

हमने हमेशा से सुना की एक आदमी के सफलता के पीछे हमेशा एक औरत...

अक्षिता गुप्ता आईएएस बनने से पहले डॉक्टर बनना चाहती थी फिर कुछ ऐसा हुआ की क्लियर कर लिया यूपीएससी

यूपीएससी परीक्षा भारत की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है जिसने हर साल लाखों...

ग्रेटर फरीदाबाद में कछुये की रफ़्तार से हो रहा है कार्य, कई महीनों से बंद हैं आस-पास के रास्ते

फरीदाबाद में बाईपास रोड पर दिल्ली-मुंबई-वडोदरा-एक्सप्रेसवे के लिंक रोड पर बीपीटीपी एलिवेटेड पुल का...

More like this

हरियाणा के बसई गांव से पहली महिला आईएएस बनी ममता यादव

यूपीएससी क्लियर करना बहुत बड़ी उपलब्धि की श्रेणी में आता है और जब कोई...

हरियाणा के रोल मॉडल बने ये दादा पोती की जोड़ी टीचर दादाजी के सहयोग से 23 साल में ही बनी आईएएस

हमने हमेशा से सुना की एक आदमी के सफलता के पीछे हमेशा एक औरत...

अक्षिता गुप्ता आईएएस बनने से पहले डॉक्टर बनना चाहती थी फिर कुछ ऐसा हुआ की क्लियर कर लिया यूपीएससी

यूपीएससी परीक्षा भारत की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है जिसने हर साल लाखों...