HomeFaridabadसेना दिवस पर मिले सम्मान से संदीप का परिवार हुआ भावुक जानें...

सेना दिवस पर मिले सम्मान से संदीप का परिवार हुआ भावुक जानें इनकी बहादुरी की कहानी

Published on

शहीद संदीप ने गाँव को किया गौरान्वित, मरणोपरांत मिला सेना मेडल सेना दिवस पर शुक्रवार को दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में सेनाध्यक्ष मनोज मुकुंद नरवणे ने शहीद पत्नियों को सेना मेडल से सम्मानित किया गया। फ़रीदाबाद के गाँव अटाली में रहने वाले शहीद संदीप को गैलेंट्री अवॉर्ड दिया गया। शहीद संदीप की पत्नी ने यह अवॉर्ड प्राप्त किया।

सेना दिवस पर मिले सम्मान से संदीप का परिवार हुआ भावुक जानें इनकी बहादुरी की कहानी

शहीद संदीप 10 पैरा स्पेशल फ़ॉर्सेज़ में नायक थे। पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानो पर हुए आतंकी हमले से तीन दिन पहले पुलवामा में ही हुए आतंकी हमले में नायक संदीप वीरगति को प्राप्त हो गए थे। शहीद संदीप को सूचना मिली थी कि वहीं किसी घर में आतंकी छुपे हुए है तो संदीप अपने साथियों के साथ वहाँ पहुँच गए। इस दौरान आतंकियों ने फ़ायरिंग शुरु कर दी। संदीप ने दो आतंकियों को मार गिराया था अपने घायल स्काउट कमांडर को बचाते वक़्त तीन गोली लगने से घायल हो गए और उन्हें तुरंत आर्मी कैम्प के हॉस्पीटल में ले जाया गया। जहां वह 19 फ़रवरी को प्राणाहुति को प्राप्त किए। उसके बाद 20 फरवरी को सम्मान के साथ शहीद संदीप का अंतिम संस्कार किया गया था।

गर्व का पल

सेना दिवस पर मिले सम्मान से संदीप का परिवार हुआ भावुक जानें इनकी बहादुरी की कहानी

संदीप की पत्नी गीता बहादुरी के साथ मैडल प्राप्त करते हुए बताती है की यह उनके परिवार के लिए गर्व का पल था। उन्हे अपने पति पर नाज़ है। आपको बता दें की सेना दिवस पर संदीप की माँ व बच्चे भी मौजूद थे।

संदीप की कमी हमेशा मेहसूस होगी

संदीप के छोटे भाई भावुक होते हुए बताते है की उनकी कमी को कोई भी पूरा नही कर पाएगा। उनकी कमी हमेशा मेहसूस होगी। उन्हें मरणोपरांत सेना मेडल से सम्मानित करना हमारे लिए गर्व की बात है। हमारे परिवार व गांव को उन पर नाज़ है।

Written by: Isha singh

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...