HomeEducationयुवाओं के प्रयासों से गाँव में बनी लाइब्रेरी, अब नहीं जाना होगा...

युवाओं के प्रयासों से गाँव में बनी लाइब्रेरी, अब नहीं जाना होगा पढ़ाई के लिए शहर

Published on

फ़रीदाबाद (रविवार)- गाँव नरियला में रोटरी क्लब मिड टाऊन के प्रयासों से आज ग्रामीण लाइब्रेरी का उद्घाटन किया गया। इस लाइब्रेरी का शुभारंभ रोटरी क्लब मिड टाऊन के अध्यक्ष की पत्नी मीनल गर्ग द्वारा किया गया।

लाइब्रेरी में प्रयुक्त किए जाने वाले फ़र्निचर को रोटरी क्लब द्वारा दिया गया। गाँव की युवा टीम ने अपने जेब ख़र्चे से लाइब्रेरी के लिए धनराशि एकत्रित की। गाँव के युवाओं ने पुस्तकें दान कर अहम भूमिका अदा की। इस लाइब्रेरी में एक समय में 25 लोगो के बैठने की क्षमता है।

युवाओं के प्रयासों से गाँव में बनी लाइब्रेरी, अब नहीं जाना होगा पढ़ाई के लिए शहर

सरपंच योगेन्द्र कुमार ने पत्रकारों  से बात करते हुए कहा कि इस लाइब्रेरी में मुख्यतः प्रतियोगिता परीक्षाओ के लिये किताबें उपलब्ध हैं। HSSC या SSC कोई भी इग्ज़ाम हो इन सभी परीक्षाओ के लिए जो भी विद्यार्थी तैयारी कर रहा हो वह यहाँ आ सकता है और पढ़ाई कर सकता है।

युवाओं के प्रयासों से गाँव में बनी लाइब्रेरी, अब नहीं जाना होगा पढ़ाई के लिए शहर

जिस तरह हमारे गाँव के युवाओं ने लाइब्रेरी में सहयोग दिया है उन्होंने सभी गाँवों के युवाओं के लिये एक मिसाल क़ायम की है। रोटरी क्लब मिड टाऊन के अध्यक्ष पंकज गर्ग ने कहा कि बच्चों के लिए ऐसी सुविधा शहर में ज़्यादा होती है परंतु अब हमारे बच्चों को शहर में नहीं जाना पड़ेगा।

मुझे आशा है कि अगले साल तक इस गाँव के विद्यार्थियों के पास सरकारी नौकरी होनी चाहिये। उन्होंने साथ ही साथ यह भी कहा कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो इसी गाँव में कंप्यूटर सेंटर और महिलाओं के लिए सिलाई सेंटर हम खोलेंगे। सचिव सचिन जैन ने कहा कि इस लाइब्रेरी के उद्घाटन में सभी लोगों ने साथ दिया है।

युवाओं के प्रयासों से गाँव में बनी लाइब्रेरी, अब नहीं जाना होगा पढ़ाई के लिए शहर

साथ ही साथ उन्होंने बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना की है। कार्यक्रम के अंत में सभी लोगों को पगड़ी बांध कर सम्मानित किया गया। इसमें मुख्य रूप से रोटरी क्लब मिड टाऊन के सचिव सचिन जैन, दिनेश, सरपंच योगेन्द्र कुमार, अद्यापक देवेंद्र गौड और राजेश भाटी मौजूद रहे।

Written by: Sushant singh

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...