HomeFaridabad6 साल की उम्र में अविराज बने फरीदाबाद के सबसे छोटे गोल्फर...

6 साल की उम्र में अविराज बने फरीदाबाद के सबसे छोटे गोल्फर , गुरु अर्जुन से सीखे गुर

Published on

फरीदाबाद : आपने वो पंक्ति तो सुनी होगी की “छोटा पैकेट बड़ा धमाका ” इस लाइन को एक 6 साल के नन्हें बच्चे ने सिद्ध करके दिखाया है। बच्चे बचपन से ही खास होते है यह तो आप सभी जानते है लेकिन कुछ बच्चे अलग हुनर लेकर पैदा होते है आपको बता दे की 6 साल के अविराज कालिया ने सबसे छोटे गोल्फर का खिताब अपने नाम किया है।

आपको बता दे कि यह प्रतियोगिता छोटे बच्चों और युवाओं के लिए फ़रीदाबाद गोल्फ क्लब द्वारा अरावली कप प्रतियोगिता जो की स्टड द्वारा प्रायोजित 17 जनवरी को आयोजित की गई थी। यह प्रायोजित अर्जुन मालिक गोल्फ़ कप द्वारा एक पहल थी।

6 साल की उम्र में अविराज बने फरीदाबाद के सबसे छोटे गोल्फर , गुरु अर्जुन से सीखे गुर

इसमें सबसे कम उम्र के प्रतिभागी अविराज कालिया थे। क़रीब 70 प्रतिभागियों ने इसमें हिस्सा लिया। अविराज कालिया ने इतनी छोटी सी उम्र में पहली बार गोल्फ में हिस्सा लिया और बड़े अच्छे तरीक़े से खेला । अविराज ने सभी 9 होल को पूरा किया और ऐसा करके वो सबसे कम उम्र के गोल्फर बन गए।

अविराज शिव नाड़र स्कूल फ़रीदाबाद में पढ़ते है। अभी अविराज गोल्फ़ कोच अर्जुन मालिक से गोल्फ़ खेलना सीख रहे है। बातचीत के दौरान अर्जुन मालिक ने कहा कि आज कल बच्चें क्रिकेट खेलना ज़्यादा पसंद करते है और गोल्फ़ को इतनी तवज्जो नहीं दी जाती।

6 साल की उम्र में अविराज बने फरीदाबाद के सबसे छोटे गोल्फर , गुरु अर्जुन से सीखे गुर

इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य फरीदाबाद में गोल्फ को बढ़ावा देना और शहर में गोल्फ खेलने वाले बच्चों को स्पॉटलाइट के तहत रखना और उन्हें प्रेरित करना है।

अविराज को मिला गुरु का मार्गदर्शन

कोई भी ज्ञान बिना गुरु के संभव नही है चाहे वो खेल जगत ही क्यों ना हो , एक अच्छा गुरु अपने शिष्यों के जीवन मार्ग को कुशल बनाने के लिए लग्न और मेहनत की नीवं रखता है अविराज को भी अर्जुन के रूप में एक बेहतर गुरु मिले है ।

जिसने ना सिर्फ अविराज को खेल के प्रति रुचि जगाई है बल्कि अविराज को गोल्फ की बारीकियां सीखने का भी मौका मिल रहा है कोच अर्जुन के साथ अविराज बहेतरीन मार्गदर्शन में अपना गोल्फ खलने की प्रैक्टिस भी कर रहे है ।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...