HomeLife StyleHealthलॉकडॉउन में मानसिक तौर पर सामाजिक एकांत में स्वयं को संभालना होगा...

लॉकडॉउन में मानसिक तौर पर सामाजिक एकांत में स्वयं को संभालना होगा जानिए कैसे

Published on

जैसे जैसे कोरोना वायरस का संक्रमण काल बन लोगों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहा हैं तो परिस्थितियां नाजुक दौर से बाहर निकल कर आदेश की सराहना कर रही हैं।

अचानक देखते ही देखते देश में कहर लगातार जारी होने से कोरोना वायरस का संक्रमण लाख़ की संख्या से कुछ दूरी पर है। ऐसे में आज से लॉक डाउन के चौथे चरण की शुरुआत हो चुकी हैं।

कहीं ना कहीं भागदौड़ भरी जिंदगी में रुकावटें उत्पन्न हो रही है ऐसे में लोगों के दिमाग में नकारत्मक भाव पनपने लगे हैं, लोग अपने घरों में कैद है।

लेकिन बावजूद कोरोना वायरस से संक्रमितों की बढ़ती संख्या से जुड़ी ख़बरें रोज तनाव की वजह बन रही है ऐसे में आपको सामाजिक एकांत में स्वयं को संभालना होगा।

लॉक डाउन के दौरान सकारात्मक रहने के कुछ खास तरीके-

*व्यस्त रहे

एक नियमित दिनचर्या बनाएं अपने पुराने शौक को पुनर्जीवित करें।

*स्वस्थ रहे

अच्छी व स्वास्थ्यवर्धक चीजें खाएं और तरल पदार्थों का भरपूर सेवन ना करें।

*शारीरिक रूप से सक्रिय रहे

घर पर ही आसान व्यायाम करें जो आप को फिट महसूस कराएं।

*दयालु बने

भोजन या अन्य आवश्यक चीजों को जरूरतमंदों के साथ साझा करें।

*सहानुभूति पूर्ण बने

बुजुर्गों को दबाए दैनिक जरूरतें अवधि पूरी करने में मदद करें।

*जिम्मेदार बने

बच्चों को व्यस्त रखें उन्हें नए कौशल विकसित करने के लिए प्रेरित करें।

Latest articles

हरियाणा के बसई गांव से पहली महिला आईएएस बनी ममता यादव

यूपीएससी क्लियर करना बहुत बड़ी उपलब्धि की श्रेणी में आता है और जब कोई...

हरियाणा के रोल मॉडल बने ये दादा पोती की जोड़ी टीचर दादाजी के सहयोग से 23 साल में ही बनी आईएएस

हमने हमेशा से सुना की एक आदमी के सफलता के पीछे हमेशा एक औरत...

अक्षिता गुप्ता आईएएस बनने से पहले डॉक्टर बनना चाहती थी फिर कुछ ऐसा हुआ की क्लियर कर लिया यूपीएससी

यूपीएससी परीक्षा भारत की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है जिसने हर साल लाखों...

ग्रेटर फरीदाबाद में कछुये की रफ़्तार से हो रहा है कार्य, कई महीनों से बंद हैं आस-पास के रास्ते

फरीदाबाद में बाईपास रोड पर दिल्ली-मुंबई-वडोदरा-एक्सप्रेसवे के लिंक रोड पर बीपीटीपी एलिवेटेड पुल का...

More like this

हरियाणा के बसई गांव से पहली महिला आईएएस बनी ममता यादव

यूपीएससी क्लियर करना बहुत बड़ी उपलब्धि की श्रेणी में आता है और जब कोई...

हरियाणा के रोल मॉडल बने ये दादा पोती की जोड़ी टीचर दादाजी के सहयोग से 23 साल में ही बनी आईएएस

हमने हमेशा से सुना की एक आदमी के सफलता के पीछे हमेशा एक औरत...

अक्षिता गुप्ता आईएएस बनने से पहले डॉक्टर बनना चाहती थी फिर कुछ ऐसा हुआ की क्लियर कर लिया यूपीएससी

यूपीएससी परीक्षा भारत की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है जिसने हर साल लाखों...