HomeEducationपरीक्षाओं को लेकर शिक्षा मंत्री ने दी यह जानकारी, बच्चों के लिए...

परीक्षाओं को लेकर शिक्षा मंत्री ने दी यह जानकारी, बच्चों के लिए है बेहद ज़रूरी

Published on

सोमवार को शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखियाल ने केंद्रीय विद्यालयों के बच्चों के साथ इंटरैक्शन किया जहां उन्होंने स्टूडेंट्स के सवालों के जवाब दिए। शिक्षा मंत्री से बातचीत के दौरान पता चला कि सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं का सिलेबस घटाया गया है हालांकि जेईई मेन 2021 और नीट 2021 में पूरे सिलेबस से ही प्रश्न पूछे जाएंगे।

इस साल सीबीएसई बोर्ड ने कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए सिलेबस को एक समय के उपाय के रूप में कम कर दिया है।

परीक्षाओं को लेकर शिक्षा मंत्री ने दी यह जानकारी, बच्चों के लिए है बेहद ज़रूरी

इसकी वजह रही देश में आई महामारी जिसके कारण सिलेबस कम करदिया गया। ऑनलाइन इंटरैक्शन के दौरान शिक्षा मंत्री ने कहा, ” छात्रों को बोर्ड परीक्षा के साथ साथ अन्य परीक्षाओं जैसे प्रवेश परीक्षा जेईई मेन 2021 और राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा नीट 2021 के लिए पूरे सिलेबस से करनी होगी “। साथ ही उन्होंने बच्चों से कहा कि वह महामारी काल में अपने सबसे खास अनुभव को एक डायरी में लिखें।

ऐसे अनुभव जो उन्हें लगता है कि वह सिर्फ महामारी के दौरान ही पूरे हो सकतें है। कुछ समय पहले केंद्रीय माधियमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई ने यह घोषणा की थी की महामारी के चलते 10वीं और 12वीं कक्षाओं के छात्रों के लिए सिलेबस कम करदिया गया है। इसी के चलते जो विद्यार्थी इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी कर रहे थे वह अपने फ्यूचर को लेकर कन्फ्यूज्ड थे।

परीक्षाओं को लेकर शिक्षा मंत्री ने दी यह जानकारी, बच्चों के लिए है बेहद ज़रूरी

लेकिन शिक्षा मंत्री ने कल इस बात से स्पष्ट कर दिया है कि आने वाली इंजीनियरिंग और मेडिकल की परीक्षा में पूरा सिलेबस से प्रश्न पूछे जाएंगे। पिछले साल नीट का आयोजन 13 और 14 सितंबर को किया गया था, लेकिन इसका सिलेबस दिसंबर 2019 में साझा किया गया।

हर साल जेईई और नीट के लिए लाखों बच्चें तैयारी करते है जिसमें से कुछ बच्चों का ही सिलेक्शन हो पाता है। वहीं इस साल भी बच्चों की संख्या लाखो में देखी गई है। जेईई और नीट के एग्जाम में पूछे गए सवाल बच्चों के सिलेबस से ही पूछे जाते है। इनमे शामिल होने के लिए विद्यार्थी को 12वीं कक्षा में पास होना बेहद ज़रूरी है तभी वह इन परीक्षाओं में हासिल हो सकता है।

Written by – Aakriti Tapraniya

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...