HomeUncategorizedखाते में नहीं है पैसे, फिर भी निकाल सकते है 10,000 रूपए,...

खाते में नहीं है पैसे, फिर भी निकाल सकते है 10,000 रूपए, इतने करोड़ लोगों ने खुलवाया ये खाता

Published on

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा साल 2014 जन धन योजना की घोषणा की गई थी हालांकि इस योजना को 28 अगस्त में शुरू किया गया। प्रधानमंत्री जन-धन योजना के तहत खाता किसी भी बैंक में खोला जा सकता है अगर आप भी इसे मानते है तो जन धन खातों में सरकारी योजना का पैसा आसानी से आ जायेगा।

इस योजना के जरिये लाभार्थी को 30 हजार रुपए के दुर्घटना मृत्यु बीमा कवर का भी लाभ दिया जाता है और साथ ही 1 लाख रूपए का दुर्घटना बीमा का भी सरकार द्वारा लाभ मिलेगा। लेकिन यह आंकड़ा अब बढ़कर 41 करोड़ हो चुका है, बता दे कि 40 करोड़ लोग इसका फायदा उठा चुके है।

खाते में नहीं है पैसे, फिर भी निकाल सकते है 10,000 रूपए, इतने करोड़ लोगों ने खुलवाया ये खाता

इन सभी चीज़ों का लाभ तभी हो सकता है जब आपका आधार कार्ड का लिंक खाते के साथ होगा। इसके अलावा 28 अगस्त 2018 के बाद खुले जनधन खातों पर रुपे कार्ड के धारकों के लिये निशुल्क दुर्घटना बीमा का कवर दोगुना यानी दो लाख रुपये कर दिया गया।

इन डाक्यूमेंट्स की होगी जरूरत

इस योजना का लाभ उठाने के लिए यह महत्वपूर्ण डाक्यूमेंट्स चाहिए होंगे जैसे वोटर कार्ड, आधार कार्ड, पास्टपोर्ट, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेन्स, नाम, पता, आधार नंबर, गजेटेड अफसर द्वारा जारी पत्र। प्रधानमंत्री जन धन योजना में लोगो को इससे काफी सुविधाएं होगी। अगर आपके खाते में शून्य रुपए है तो आप भी निकाल सकते है।

खाते में नहीं है पैसे, फिर भी निकाल सकते है 10,000 रूपए, इतने करोड़ लोगों ने खुलवाया ये खाता

मंत्रालय ने अपने सोशल मीडिया के जरिये बताया कि जेरो बैलेंस वाले लोगो की संख्या अब कम हो गयी है। अगर किसी इंसान के पास दस्तावेज मौजूद नहीं होते तो वह अपना स्माल अकॉउंट खुलवा सकते है जिसमे सेल्फ अटेस्टेड फोटोग्राफ और बैंक अधिकारी के सामने अस्ताक्षर होंगे।

योजना के लाभ

  • इस योजना के तहत 10 साल से कम उम्र के बच्चों का भी खुल सकता है खाता।
  • किसी भी बैंक में खोला जा सकता है इस अकॉउंट को।
  • मिनिमम बैलेंस मेन्टेन करने की नहीं है जरूरत।
  • इस योजना के तहत किसी भी नागरिक को कोई फीस या पैसे जमा नहीं करने होंगे।

Written by – Aakriti Tapraniya

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...