HomePoliticsट्रैक्टर रैली पुलिस का हाल करेगी बेहाल, देखना होगा मजेदार कैसे हालात...

ट्रैक्टर रैली पुलिस का हाल करेगी बेहाल, देखना होगा मजेदार कैसे हालात नियंत्रण करेंगे सीएम मनोहरलाल

Published on

कृषि कानूनों के खिलाफ सरकार को चेतावनी के लिए अब किसानों द्वारा 26 जनवरी के कार्यक्रम के रंग में भंग डालने का कार्य किसानों की ट्रैक्टर के लिए बखूबी भूमिका अदा करने वाली है। जहां यह रैली सरकार को छिपाने का प्रयास होगा वहीं दूसरी तरफ हरियाणा पुलिस के लिए यह मुश्किल बढ़ाएगी।

और दूसरी तरफ केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा पहले ही हरियाणा सरकार को यह निर्देश दिए जा चुके हैं कि ट्रैक्टर रैली को रोकने हेतु हरियाणा सरकार पुलिस विभाग को किसी प्रकार की गाइडलाइन जारी ना करें।

ट्रैक्टर रैली पुलिस का हाल करेगी बेहाल, देखना होगा मजेदार कैसे हालात नियंत्रण करेंगे सीएम मनोहरलाल

इसके अलावा यह भी कहा गया है कि कानून-व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के हर मुमकिन प्रयास हरियाणा सरकार द्वारा पुलिस बल की सहायता से किया जाए। इतना ही नहीं अब हरियाणा सरकार कोई चिंता सताए जा रही है

कि यदि पी जिन ट्रैक्टरों के माध्यम से मार्च निकाला जा रहा है अगर वह अचांचक से बीच रास्ते में खराब हो जाए तो क्या होगा। इससे परिणाम यह होगा कि इन खराब ट्रैक्टरों की वजह से न केवल सड़कों पर, बल्कि दिल्ली में भी जाम के हालात पैदा हो सकते हैं।

ट्रैक्टर रैली पुलिस का हाल करेगी बेहाल, देखना होगा मजेदार कैसे हालात नियंत्रण करेंगे सीएम मनोहरलाल

इसी कड़ी के हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल अपने विभागीय अधिकारियों से फीडबैक हासिल करने के बाद लगातार केंद्र को रिपोर्ट दे रहे हैं। खुफिया एजेंसियों ने सरकार को सूचना दी है कि ट्रैक्टरों को दिल्ली की तरफ बढ़ने से रोकना किसी सूरत में उचित नहीं होगा।

उनकी चिंता है कि यदि ट्रैक्टर दिल्ली में घुस गए और वहां उनमें किसी तरह की खराबी आती है अथवा किसान वापस नहीं लौटते, तब उस स्थिति में सरकार के सामने किस तरह के विकल्प होंगे।

ट्रैक्टर रैली पुलिस का हाल करेगी बेहाल, देखना होगा मजेदार कैसे हालात नियंत्रण करेंगे सीएम मनोहरलाल

किसान आंदोलन का पूरा संचालन किसान संगठनों की संयुक्त समन्वय समिति के हाथों में हैं। इस समन्वय समिति में सात सदस्य हैं। भाकियू अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी कांग्रेस व आप तथा शिव कुमार कक्का भाजपा की विचारधारा के किसान नेता हैं।

बाकी पांच सदस्य कम्युनिस्ट-वामपंथी विचारधारा के पक्षधर हैं, इसलिए खुफिया एजेंसियों ने सरकार को रिपोर्ट दी है कि यह आंदोलन पूरी तरह से वामपंथी विचारधारा के हाथों में है, जिसको कांग्रेस का समर्थन मिल रहा है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...