Pehchan Faridabad
Know Your City

80 वर्षीय दिल हुआ जवां, जानिए एशियन अस्पताल में इलाज करवा रहे इस बुजुर्ग की आपबीती

दुबई में रहने वाले दाऊद सलमान जिनकी उम्र 80 वर्षीय हैं। दाऊद सलमान को कुछ समय से सीने में भारीपन रहता था। इसके साथ ही उन्हें बैचेनी भी महसूस होती थी।और चलते समय सीने में दर्द भी होता था। जब उनकी ये परेशानियां बढ़ने लगी।

तब उन्होंने दुबई के एक अस्पताल में टेस्ट करवाया।
टेस्ट कराने के बाद पता चला कि उनके हृदय का वाल्व खराब है ज्यादा उम्र और वजन के कारण वह बाईपास सर्जरी नहीं कराना चाहते थे। और वह सर्जरी के नाम से डरे हुए भी थे।

एशियन अस्पताल के वरिष्ठ हृदय सर्जन डा. अमित चौधरी बताते है की जब दाऊद सलमान उनके पास आए थे तो वह काफी डरे हुए थे और अपनी ज्यादा उम्र और वजन के कारण वह बाईपास सर्जरी नहीं कराना चाहते थे।

टीएवीआर

उस समय हृदय सर्जन डा. अमित चौधरी बताते है की तब हमने ट्रांसकैथेटर एओर्टिक वाल्व रिप्लेसमेंट तकनीक से उनका खराब वाल्व बदल दिया। टीएवीआर तकनीक उन रोगियों के उपचार की नई तकनीक है, जो ओपन हार्ट सर्जरी के जोखिम से गुजरने को तैयार नहीं हैं। इस मिनीमम इन्वेसिव प्रक्रिया में रोगी की जांघ में बड़ी धमनी के माध्यम से नया वाल्व लगाया जाता है।

हालांकि इस प्रक्रिया में मरीज को बिना चीरा लगाए और बेहोश किए जांघ से दिल की खराब वाल्व को बदल दिया जाता है। हृदय सर्जन डा. अमित चौधरी बताते है की इंसान के हृदय में चार वाल्व होते हैं,जो हृदय की मूवमेंट के साथ में खुलते और बंद होते हैं।

वह बताते है की जब एक हृदय वाल्व खराब हो जाता है तो मरीज में कई लक्षण दिखाई दे सकते हैं, जैसे कि सीने में दर्द, धड़कन, सांस की तकलीफ, थकान, कमजोरी, नियमित गतिविधि स्तर को बनाए रखने में असमर्थता। एशियन अस्पताल में दाऊद सलमान शिआइवी का ट्रांस कैथेटर एओर्टिक वाल्व रिप्लेसमेंट (टीएवीआर) किया गया।

Written By :- Radhika Chaudhary

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More