HomeUncategorizedट्रेन की चपेट में आने से मां सहित दो बच्चों की हुई...

ट्रेन की चपेट में आने से मां सहित दो बच्चों की हुई मौत

Published on

आरपीएफ के द्वारा लोगों को फटक ना पार करने को लेकर समय समय पर जागरूक किया जाता है। लेकिन उसके बावजूद भी लोग फाटक को पार करके रास्ते का शाॅट कट अपनाते हैं । वहीं शाॅट कट उनकी जिंदगी का भी आखिर कट बन जाता है। इसी शाॅट कट की वजह से हर साल सैकड़ों की संख्या में लोगों के द्वारा ट्रेन की चपेट में आने से मृत्यु होती है।

की लेकिन उसके बावजूद भी लोग समझते नहीं हैं। फाटक पार करने को लेकर कई बार चालान भी किए जा चुके है।

ट्रेन की चपेट में आने से मां सहित दो बच्चों की हुई मौत


गुरूवार को लकड़पुर रेलवे फाटक को पार करते वक्त एक महिला के साथ दो लड़कियों की मृत्यु हो गई। जानकारी के अनुसार एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आने से तीनों की मौके पर ही मौत हो गई। मृतकों में शिव दुर्गा विहार ई-ब्लाक निवासी 40 वर्षीय सुनीता उर्फ नीता, उनकी 18 वर्षीय बेटी सब्बी और 16 वर्षीय इंदू के रूप में हुई है। मृतक सुनिता के पति राजीव ने बताया कि वह मोबाइल सप्लाई करने का काम करते हैं। गुरूवार को वह काम की वजह से आगरा गए हुए थे। लेकिन ज बवह वापिस आ रहे थे तो उनको सूचना मिली कि उनकी पत्नि और दोनों बेटियों की ट्रेन क चपेट में आने की वजह से मृत्यु हो गई।

ट्रेन की चपेट में आने से मां सहित दो बच्चों की हुई मौत


जांच अधिकारी एएसआई सविता ने बताया कि गुरूवार देर शाम सुनीता, सब्बी और इंदू खरीदारी के लिए घर से निकली थीं। वह लकड़पुर रेलवे फाटक पार कर रही थीं। इसी दौरान एक पटरी पर एक्सप्रेस, जबकि दूसरी पर मालगाड़ी ट्रेन आ गई। दोनों तरफ ट्रेन आने की वजह से वह डर के चलते ट्रेन के नीचे आ गईं। तीनों की मौत मौके पर ही हो गई। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया है। राजीव ने बताया कि उनकी 7 बेटियां है। जिसमें से जिन दो बेटियों मृत्यु हुई है वह दोनों बड़ी थी।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...