HomeIndiaवसुन्धरा स्थित “ध्यानकक्ष” हरियाणा पर्यटन द्वारा फरीदाबाद के दर्शनीय स्थलों में हुआ...

वसुन्धरा स्थित “ध्यानकक्ष” हरियाणा पर्यटन द्वारा फरीदाबाद के दर्शनीय स्थलों में हुआ शामिल n

Published on

फरीदाबाद: हरियाणा सरकार के पर्यटन विभाग द्वारा गाँव भोपनी – लालपुर रोड, ग्रेटर
फरीदाबाद में सतयुग दर्शन ट्रस्ट के वसुन्धरा परिसर में स्थित “ध्यानकक्ष’ को फरीदाबाद
के दर्शनीय स्थलों में शामिल कर लिया गया है।

इस आशय हेतु हरियाणा पर्यटन की
वेबसाइट https://haryanatourism.gov.in/ में इसे दर्शाया गया है। “ध्यानकक्ष के
अतिरिक्त फरीदाबाद के अन्य दर्शनीय स्थलों में आनंदपुर बांध, अरावली गोल्फ कोर्स ,जिमखाना क्लब मुगल ब्रिज, नाहर सिंह क्रिकेट स्टेडियम नाहर सिंह पैलेस राजहंस कन्वेंशन सेंटर रोज गार्डन और सूरजकुंड शामिल हैं।

वसुन्धरा स्थित “ध्यानकक्ष” हरियाणा पर्यटन द्वारा फरीदाबाद के दर्शनीय स्थलों में हुआ शामिल n


सतयुग दर्शन ट्रस्ट, फरीदाबाद द्वारा वसुन्धरा परिसर के लगभग 10 एकड़ क्षेत्र में स्थापित
“ध्यान-कक्ष- जोकि समभाव-समदृष्टि के स्कूल के नाम से जाना जाता है, अपने आप में
स्थापत्य कला की अद्वितीय मिसाल है।

श्वेत मार्बल और लाइमस्टोन से बने दोहरे
गुम्बदाकार के इस ध्यान-कक्ष का शुभ प्रारम्भ दिनाँक 26 जनवरी 2014 को किया गया
था। गुम्बद के अंदरूनी छतों को स्वर्ण पत्तरों से सजाया गया है। यह चारों ओर से सुन्दर
वाटरबॉडी और लॉन से घिरा है।

ध्यान-कक्ष में प्रवेश से पूर्व निर्मित सात द्वारों

जोकि
क्रमशः संतोष धैर्य, सच्चाई, धर्म, सम, निष्काम व परोपकार के प्रतीक हैं, के मध्य से होकर आना होता है यहाँ से अब ध्यान के माध्यम से आंतरिक आयामों के विज्ञान की शिक्षा दी जाती है।

वसुन्धरा स्थित “ध्यानकक्ष” हरियाणा पर्यटन द्वारा फरीदाबाद के दर्शनीय स्थलों में हुआ शामिल n

यह ध्यान-कक्ष सतयुग की पहचान व मानवता का स्वाभिमान के रूप में
स्थापित किया गया है। “ध्यानकक्ष में इस लौकिक जगत में विचरते समय मानसिक रूप से अपने मूल धर्म पर सत्यनिष्ठा से समरस बने रहने के लिए उन्हें, अंतर्निहित अलौकिक ज्ञान शक्तियों व गुणों से भी परिचित कराया जाता है।

ताकि सांसारिक कठिन परिस्थितियों
उनका आत्मिक बल किसी विधु कमजोर न पड़े और वह आत्मवि श्वास के साथ आत्मा और परमात्मा की शाश्वतता, शाश्वत जीवन और शाश्वत मूल्यों में वि श्वास रखते हुए आत्मनिर्भर होकर एक सज्जन पुरुष बन जाएं।
इसे देखने के लिए लोग दूर – दूर से आते हैं। यहाँ कई प्रकार के सांस्कृतिक और रंगारंग

कार्यक्रम भी समय समय पर आयोजित किये जाते हैं। प्रति वर्ष राम नवमी पर हजारों

की संख्या में श्रद्धालु यहाँ आते हैं। इसके अतिरिक्त “मानवता ओलिंपियाड’ जिसमें कि
3000 से अधिक विद्यालओं से लाखों की संख्या में छात्र-छात्राएं भाग लेते हैं का समापन
प्रति वर्ष सात सितम्बर को यहाँ के विशाल सभागार में किया जाता है।

वसुन्धरा स्थित “ध्यानकक्ष” हरियाणा पर्यटन द्वारा फरीदाबाद के दर्शनीय स्थलों में हुआ शामिल n


“ध्यानकक्ष. परिसर में दर्शकों के लिए एंट्री निशुल्क है और यहाँ कैफेटेरिया, भोजनालय,
पार्किंग आदि की सुविधा उपलब्ध है। भारत के पूर्व राष्ट्रपति डा. अबुल कलाम आज़ाद,
हरियाणा के पूर्व गवर्नर कप्तान सिंह सोलंकी, पूर्व राजनयिक डा. कर्ण सिंह सहित कई
प्रमुख हस्तियाँ यहाँ आ चुकी हैं।


“ध्यानकक्ष को फरीदाबाद के दर्शनीय स्थलों में शामिल करने से आस-पास के ग्रामीणों ने
भी हर्ष जताया है कि अब इस क्षेत्र में दर्शकों के आने से क्षेत्र का और अधिक विकास
होगा और रोज़गार के नए अवसर खुलेंगे।


सतयुग दर्शन ट्रस्ट के प्रवक्ता ने बताया कि कोरोना नियमावली के चलते अभी
“ध्यानकक्ष में दर्शकों का प्रवेश नियंत्रित है और राज्य सरकार के नियमानुसार इसे शीघ्र
ही दर्शकों के लिए पुनः खोला जाएगा।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...