Online se Dil tak

विधायकों व सांसदों के साथ मुलाकात के बाद जल्द होने वाली अहम बैठक में तय होगी बजट की तारीख

पिछले वर्ष करीबन जनवरी माह से शुरू हुए कोविड-19 के संक्रमण ने 1 वर्ष उपरांत भी देशभर में आर्थिक गतिविधियों को प्रभावित करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी गई है। वह बात अलग है कि कोविड-19 की को वैक्सीन आने के बाद से ही हालात में काफी हद तक सुधार देकर गए हैं।

मगर आर्थिक गतिविधियों को सुचारू रूप से चलाने के लिए हरियाणा सरकार पुरजोर प्रयास कर रही है। बजट की तारीख तय करने के लिए कल एक अहम बैठक आयोजित होनी है।

विधायकों व सांसदों के साथ मुलाकात के बाद जल्द होने वाली अहम बैठक में तय होगी बजट की तारीख
विधायकों व सांसदों के साथ मुलाकात के बाद जल्द होने वाली अहम बैठक में तय होगी बजट की तारीख

हरियाणा कैबिनेट की बैठक कल यानी 10 फरवरी को सीएम मनोहर लाल खट्टर की अध्यक्षता में चंडीगढ़ में होगी। इस बैठक का मुख्य उद्देश्य बजट सत्र पर चर्चा करते हुए तारीख तय करनी होगी। वै

से तो इस बार बजट के दौरान बिल्डरों के लिए एक नई नीति पर मुहर भी लगाई जा सकती हैं। वही सूत्रों का मानना है कि इस वर्ष पेश लिए जाने वाले बजट में मुख्यत स्वास्थ्य, रोजगार और महिलाओं पर फोकस रह सकता है।

विधायकों व सांसदों के साथ मुलाकात के बाद जल्द होने वाली अहम बैठक में तय होगी बजट की तारीख
विधायकों व सांसदों के साथ मुलाकात के बाद जल्द होने वाली अहम बैठक में तय होगी बजट की तारीख

इसके अलावा कृषि को लेकर भी सरकार पूर्ण रूप से चिंतित है क्योंकि विभाग के अधिकारी व कर्मचारी पिछले काफी समय से योजनाएं बनानेे में जुटे हैं।

सीएम मनोहर लाल खट्टर द्वारा विधायकों सांसदों के साथ बैठक आयोजित कर उक्त विषय पर मंथन भी किया जाएगा ताकि बजट पेश होने से पहले उसमें किसी भी प्रकार की कोई कमी ना रह जाए। सीएम पहले ही वित्त विभाग के आला अधिकारियों के साथ गहन मंथन शुरू कर चुके हैं। जो सुझाव सीएम के पास आएंगे, उनमें से पता लगाया जाएगा कि वे कितने फिजिबल हैं।

विधायकों व सांसदों के साथ मुलाकात के बाद जल्द होने वाली अहम बैठक में तय होगी बजट की तारीख
विधायकों व सांसदों के साथ मुलाकात के बाद जल्द होने वाली अहम बैठक में तय होगी बजट की तारीख

नए सुझाव लागू करने पर कितना बजट खर्च होगा, इस पर भी विचार किया जाना है। क्योंकि कोरोना की वजह से प्रदेश को काफी नुकसान हो चुका है। यही कारण है कि उद्यमियों और व्यापारियों को बजट का इंतजार है।

क्योंकि कोरोना वायरस के चलते वैसे भी इंडस्ट्रियल एरिया काफी नुकसान झेल चुका है। अभी भी हालात ज्यादा काबू में नहीं है। यही कारण है कि उम्मीद जताई जा रही है कि बजट के बाद अब कुछ हद तक परिस्थिति में सुधार हो सकेगा।

Read More

Recent