Homeमुख्यमंत्री ने मांगी फरीदाबाद के इस मामले की रिपोर्ट, दो सालों से...

मुख्यमंत्री ने मांगी फरीदाबाद के इस मामले की रिपोर्ट, दो सालों से कोई सुलझा नहीं पाया

Published on

फरीदाबाद प्रशासन कितनी लापरवाही से काम करता आया है इसका उदाहरण सदपुरा चकबंदी रिकॉर्ड गायब मामले से मिलता है। इस घटना को हुए 2 साल से अधिक का समय निकल गया है लेकिन आरोपी कौन है इसका पता अभी तक किसी को नहीं पता लग पाया है। अब मुख्यमंत्री कार्यालय ने सदपुरा चकबंदी रिकॉर्ड गायब होने की रिपोर्ट मांगी है।

इसके लिए अब जिला उपायुक्त को निर्देश दिए गए हैं। रिपोर्ट से ही पता चलेगा कि कौन अधिकारी इस मामले में दोषी है। सदपुरा गांव का गायब चकबंदी रिकॉर्ड अबूझ पहेली बन गया है। अब तक बहुत जांच हो चुकीं, लेकिन रिकॉर्ड का कोई पता नहीं।

Image result for ml khattar

इस मामले में सदपुरा निवासी मांगेराम शर्मा ने सीएम विंडो पर शिकायत की थी। मामले में तहसीलदार से लेकर अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान तक जांच कर चुके हैं। किसी भी मामले में जांच यदि 2 साल से चल रही हो और उसका परिणाम शून्य रहा हो तो प्रशासन पर सवाल उठने लाज़मी है। दो जांच में तत्कालीन पटवारी व एक में तत्कालीन कार्यालय कानूनगो को दोषी ठहराया जा चुका है, लेकिन कार्रवाई किसी पर नहीं हुई।

मुख्यमंत्री ने मांगी फरीदाबाद के इस मामले की रिपोर्ट, दो सालों से कोई सुलझा नहीं पाया

हमेशा अलग-अलग अधिकारीयों को दोषी माना गया है। जिला उपायुक्त के आदेश पर इसकी जांच जिला राजस्व अधिकारी से कराई जा रही है। जिला प्रशासन किसी नतीजे पर पहुंच ही नहीं पा रहा। डीसी फरीदाबाद ने दो वरिष्ठ अधिकारियों एडीसी व एसडीएम से जांच कराने के बाद अब चौथी जांच जिला राजस्व अधिकारी को सौंप दी है।

मुख्यमंत्री ने मांगी फरीदाबाद के इस मामले की रिपोर्ट, दो सालों से कोई सुलझा नहीं पाया

जिला राजस्व अधिकारी ने कहा है कि टीम जांच रिपोर्ट का अध्ययन किया जा रहा है। सदपुरा गांव की चकबंदी रिकार्ड गायब होने के मामले में 2 साल होने को हैं लेकिन अभी तक यह पता नहीं लगा है कि किसने यह कांड किया है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...