Homeट्विटर पर सरकार की नजर टेढ़ी, क्या ये एप बन पाएगा स्वदेशी...

ट्विटर पर सरकार की नजर टेढ़ी, क्या ये एप बन पाएगा स्वदेशी ट्विटर

Published on

इन दिनों लगातार भारत में ट्विटर और कू एप की चर्चाएं हो रही हैं। ट्विटर से टकराव के बीच यह एप आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। दरअसल, आत्मानिर्भर भारत के तहत माइक्रोब्लॉग्गिंग साइट ट्विटर का विकल्प लाया गया है और एक नई ऐप लॉन्च की गई है। जिसे कू एप नाम दिया गया है। कृषि कानूनों पर कुछ हैशटैग को लेकर ट्विटर केंद्र सरकार के निशाने पर है।

भारत सरकार और ट्वीटर के बीच में चल रहे विवाद के बीच में यह एप काफी लोकप्रिय हो रहा है। इस ऐप को पूरी तरह से ट्विटर जैसा ही बनाया गया है। कू एप को केंद्र सरकार के मंत्रियों और सरकारी विभागों का समर्थन मिलने के चलते उसके यूजर्स की संख्या तेजी से बढ़ रही है।

ट्विटर पर सरकार की नजर टेढ़ी, क्या ये एप बन पाएगा स्वदेशी ट्विटर

स्वदेशी ट्विटर बन ने दौड़ में कू निकल पड़ा है। ये एक स्वदेशी ऐप है, जिसमें डेटा लीक होने का खतरा कम होगा। आपको बता दें, सरकार ने खालिस्तानियों से संबंधित अकाउंट्स को हर हाल में डिलीट करने के निर्देश दिए हैं, लेकिन ट्विटर इसके लिए फिलहाल तैयार नहीं है। इसी को लेकर इन दोनों पक्षों में फ़िलहाल विवाद चल रहा है।

ट्विटर पर सरकार की नजर टेढ़ी, क्या ये एप बन पाएगा स्वदेशी ट्विटर

कू एप को भी लोग पसंद कर रहे हैं। इसे प्ले स्टोर पर एक मिलियन से अधिक बार लोग डाउनलोड कर चुके हैं। कू एप काफी तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। हाल ही के दिनों में व्हाट्सऐप, फेसबुक व अन्य सोशल मीडिया ऐप डेटा को लेकर लगातार विवादों में घिर रही थी। ऐसे में अब भारतीयों के डेटा को सुरक्षित रखने के लिए ये ऐप लाई है।

Image result for twitter koo

कू एप स्वदेशी है और इसे बेंगलुरु की बॉम्बिनेट टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड ने बनाया है। ट्विटर की तरह कू एक माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट है। इसे मेड इन इंडिया ट्विटर कहा जा सकता है। यह हिंदी, अंग्रेजी समेत आठ भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...