Homeदूल्हे का हाथ देख ठनका दुल्हन का दिमाग, शादी के तुरंत बाद...

दूल्हे का हाथ देख ठनका दुल्हन का दिमाग, शादी के तुरंत बाद ले लिया तलाक

Array

Published on

किसी के भी लिए शादी से बड़ा दिन कोई नहीं होता है। शादी ज़िंदगी में सब एक बार होती है। सबसे पवित्र बंधन शादी का माना जाता है। शादी ब्याह एक बहुत बड़ा ईवेंट होता है। इसके सफलपूर्वक होने में लड़का लड़की की मर्जी और दोनों पक्षों के बीच की पारदर्शिता बेहद जरूरी होती है। यदि ऐसा न हो तो शादी टूटने और पूरे समाज में बदनामी होने का खतरा बना रहता है।

टीवी सीरियल्स से लेकर हर जगह हमने देखा है कि देश में विवाह तय करने में संबंधित परिवारों के बीच पारदर्शिता नहीं होने का नतीजा दोनों पक्षों को भुगतना पड़ता है।

दूल्हे का हाथ देख ठनका दुल्हन का दिमाग, शादी के तुरंत बाद ले लिया तलाक

यह बात हकीकत में भी अब होने लगी हैं। दूल्हा – दुल्हन का रिश्ता सबसे पवित्र माना जाता है। लेकिन अब बिहार के बक्सर के इटाढ़ी के कुकुढ़ा के रहने वाले दूल्हे को ही ले लीजिए। यह दूल्हा बड़ी खुशी खुशी बीते सोमवार अपनी बारात कुकुढ़ा से गाजीपुर के कासिमाबाद ले गया था। हालांकि यहां दूल्हे के हाथ में दिक्कत होने की वजह से दुल्हन ने उससे शादी करने से इनकार कर दिया। दोनों पक्षों ने दुल्हन को समझाने की लाख कोशिशें की लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

Image result for shaadi

लड़के के दिल पर क्या गुज़री होगी इस बात का अंदाज़ा आप लगा ही सकते हैं। लड़का बेहाल हो गया है। दुल्हन दूल्हे के साथ ससुराल जाने के लिए नहीं मानी। फिर शादी की रस्मों के कुछ ही मिनट बाद तलाक की रस्में की गई। बताया जा रहा है कि दूल्हे के हाथ में जन्म से ही थोड़ी परेशानी है। ऐसे में जब वह सोमवार को अपनी बारात लेकर शादी करने पहुंचा तो यही हाथ उसकी शादी टूटने की वजह बना।

दूल्हे का हाथ देख ठनका दुल्हन का दिमाग, शादी के तुरंत बाद ले लिया तलाक

इस शादी और तलाक की चर्चा पूरे शहर में हो रही है। लोग भी हैरान हैं। फिल्मों की तरह सबकुछ हुआ है। बारात आने तक तो सबकुछ बढ़िया चल रहा था। दुल्हन पक्ष ने सबका अच्छे से स्वागत भी किया। शादी की रस्में भी हुई, लेकिन कबूलनामे की रस्म पर दुल्हन अड़ गई। उसने दूल्हे को पति के रूप में स्वीकार करने से मना कर दिया।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...