HomeCrimeआंवला तोड़ने के चलते युवक ने गवाई अपनी जान, बिजली की तारों...

आंवला तोड़ने के चलते युवक ने गवाई अपनी जान, बिजली की तारों की चपेट में आने से हुई मृत्यु

Published on

मंदिर में लगे आंवला के पेड़ से आंवला तोड़ने की वजह से युवक की जान चली गई। बताया जा रहा है कि पेड़ के पास से बिजली की तारे गुजर रही थी। लेकिन युवक का ध्यान आंवला तोड़ने में था, नाकी बिजली की तारों में।

जिसकी वजह से युवक बिजली की तारों की चपेट में आ गए और उसको जोरदार करंट लगा और वह बुरी तरह से झुलस गया। जिसके बाद उसको उपचार के लिए बीके अस्पताल लेकर गए जहां डाॅक्टरों ने उसको मृतक घोषित कर दिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए बीके अस्पताल भिजवा दिया।

आंवला तोड़ने के चलते युवक ने गवाई अपनी जान, बिजली की तारों की चपेट में आने से हुई मृत्यु


थाना एसजीएम नगर पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार एसजीएम नगर एफ ब्लाॅक के रहने वाले अजय पासवान ने बताया कि उनका 19 साल का बेटा नितेश पड़ोस में रहने वाले वेल्डिंग ठेकेदार श्रीभगवान के साथ काम करता है। लेकिन शनिवार को श्रीभगवान उसको अपने साथ लेकर चला गया। जिसके बाद उनके पास सूचना आई कि नितेश को करंट लग गया है। जिसके बाद नितेश को उपचार के लिए बीके अस्पताल लेकर गए।

जहां डाॅक्टरों ने उसको मृतक घोषित कर दिया। अजय पासवान का कहना है कि श्रीभगवान की लापरवाही की वजह से उनके बेटे नितेश की जान गई है। वहीं श्रीभगवान ने बताया कि शनिवार का काम नहीं होेने की वजह से सेक्टर 21 डी स्थित मंदिर में चले गए। जहां वह नीचे साफ सफाई कर रहा था। वहीं नितेश छत की सफाई करने के लिए चला गया।

आंवला तोड़ने के चलते युवक ने गवाई अपनी जान, बिजली की तारों की चपेट में आने से हुई मृत्यु

मंदिर की छत के पास आंवला का पेड़ भी लगा हुआ था। नितेश ने आंवला को तोड़ने के लिए छत पर रखे लोहे के सरिया को लेकर आंवला तोड़ने की कोशिश कर रहा था। लेकिन उसने बिजली की तारों की ओर ध्यान नहीं दिया। जिसकी वजह से वह आवंला तोड़ने की वजह से बिजली की तारों की चपेट में आ गया। चपेट में आने की वजह से वह पूरी तरह से झुलस गया।

नितेश को तुरंत उपचार के लिए बीके अस्पताल लेकर गए। जहां डाॅक्टरों ने नितेश को मृतक घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए बीके अस्पताल भिजवा दिया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है।

वहीं बल्लभगढ़ के विष्णु कालोनी के रहने वाले देवेंद्र्र ने बताया कि उसके मकान के नीचे मोबाइल की दुकान है। मकान किराए पर दे रखा है। रिकाए पर परमेश्वर का बेटा गुलशन छत पर खेल रहा था। तभी छत से गुज रही हाई टेंशन तारों की चपेट में आ गया। जिससे बच्चा करीब 70 प्रतिशत झुलस चुका है। बच्चें को प्राथमिक उपचार के बाद दिल्ली रेफर कर दिया है।

Latest articles

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

More like this

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...