Online se Dil tak

ग्रेटर फरीदाबाद को टैंकर्स से मिली छूट, ग्रेफा की सीवर लाइन हुई शुरू

सोमवार को ग्रेफा के कुछ पदाधिकारियों के साथ हुडा विभाग के एक्सईएन जगदीश और राजीव के साथ हुई। जिसमें उन्होंने बताया कि ग्रेटर फरीदाबाद की सीवर लाइन पूरी तरह से ऑपरेशनल हो गयी है। नगर निगम की लाइन पर निर्भरता खत्म हो चुकी है।

अब हुडा द्वारा लाइन को बादशाहपुर से जोड़ दिया गया हैं। अब सभी सोसाइटी विधिवत कनेक्शन ले कर हुडा द्वारा बनाई गई लाइन में डिस्चार्ज डाल सकते हैं। उन्होंने बताया कि पिछले कई सालों से ग्रेटर फरीदाबाद के निवासी टैंकर्स के द्वारा डिस्चार्ज को बाहर निकलते थे।

ग्रेटर फरीदाबाद को टैंकर्स से मिली छूट, ग्रेफा की सीवर लाइन हुई शुरू
ग्रेटर फरीदाबाद को टैंकर्स से मिली छूट, ग्रेफा की सीवर लाइन हुई शुरू

जिस पर करोड़ो रूपये का खर्चा आता था। ग्रेफा द्वारा इस के लिए एनजीटी में केस भी डाल था। जिसमें एनजीटी ने हुडा को जल्द से जल्द सीवर लाइन डालने का आदेश दिया था।

उन्होंने बताया कि ग्रेटर फरीदाबाद की लगभग हर सोसाइटी ने कनेक्शन के लिए फीस जमा करवा दिया था। जिसके बाद जगदीश सौरोत ने आज पूरा नेटवर्क का प्लान समझाया व किसी भी सोसाइटी की डिस्पोज में आने वाली समस्या को स्वयं देखने का विश्वास दिलाया।

ग्रेटर फरीदाबाद को टैंकर्स से मिली छूट, ग्रेफा की सीवर लाइन हुई शुरू
ग्रेटर फरीदाबाद को टैंकर्स से मिली छूट, ग्रेफा की सीवर लाइन हुई शुरू

आरडब्ल्यूए का हुआ गठन


वहीं प्रिंसिस पार्क के आरडब्ल्यूए के इलेक्शन संपन्न हो चुके है। जिसमें प्रधान पद पर विनोद कुमार, वाइस प्रेजिडेंट के पद पर रानमिक को चुना गया है। वहीं जनरल सेक्रेटरी के लिए राईनु, ज्वाइंट सेक्रेटरी के लिए गौरव, कोषाध्यक्ष के पद पर ऋषि, बोर्ड ऑफ मेंनेजर के पद पर पुनित, जया सिंह, अभिषेक, अनुप, शील चंद, रीतु, सुरेश चंद, कृष्ण पाल सिंह और लितोन चंद्रा को चुना गया।

प्रधान विनोद ने बताया कि बीपीएमएस द्वारा सर्विस दी जा रही है। जोकि सोसाइटी में लिफ्ट, पार्काें की देख रेख, सिक्यूरिटी आदि का कार्य करते है। लेकिन उनके द्वारा रेट को बढ़ा दिया गया है। जिसकी वजह से सोसाइटी में रहने वाले लोगों को काफी परेशानी हो रही है।

ग्रेटर फरीदाबाद को टैंकर्स से मिली छूट, ग्रेफा की सीवर लाइन हुई शुरू
ग्रेटर फरीदाबाद को टैंकर्स से मिली छूट, ग्रेफा की सीवर लाइन हुई शुरू

आरडब्ल्यूए के द्वारा सबसे पहले रेट को कम करवाया जाएगा। अगर रेट को कम नहीं किया जाएगा तो कंपनी को बदला जाएगा। ताकि सोसाइटी में रहने वाले लोगों को अच्छी सर्विस दी जा सकें।

नोट कुछ फोटो प्रतीकात्मक है

Read More

Recent