Pehchan Faridabad
Know Your City

फ्लेक्स बोर्ड लगाने के नाम पर ₹10000 रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया कर्मचारी

फरीदाबाद के नगर निगम कर्मचारी के द्वारा रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है यह कर्मचारी विज्ञापन का कार्य करता था। इसकी पोस्टिंग  अजरौंदा चौक स्थित एसीपी ऑफिस के एएमसीएस कार्यालय में नियुक्त था।

इसके चलते शुक्रवार को विजिलेंस की टीम ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

जानकारी की अनुसार नरेंद्र नाम का कर्मचारी आउटसोर्सिंग यानी ठेके आधार पर विज्ञापन विभाग में नियुक्त था। नगर निगम के द्वारा जो सड़कों पर या अन्य जगहों पर पोल के ऊपर जो विज्ञापन लगाए जाते हैं। उसकी एवज में यह कर्मचारी रिश्वत ले रहा था।

जानकारी के अनुसार नगर निगम के अंदर आने वाला पुल पर विज्ञापन लगवाने के लिए नरेंद्र ने गांव खेड़ी के निवासी अमर सिंह से ₹10000 की राशि में बात पक्की की थी। अमर सिंह ने बताया कि वह फ्लेक्स बोर्ड लगाने का काम करता है।

उसने अमृता होम्स का एक फ्लेक्स बोर्ड 1 फरवरी 2021 में लगाना था। जिसको लेकर नरेंद्र कुमार के द्वारा उस फ्लेक्स बोर्ड को फड़वा दिया था। जिसके बाद उसने अमर सिंह से बात की तो नरेंद्र ने बताया कि 10 हज़ार रुपए 10 दिनों के लिए इसके अलावा 3 हज़ार रुपए हर महीने के लिए देने होंगे।

अमर सिंह ने ₹2000 पहले दे दिए थे। जबकि ₹8000 के बकाया थे। इसी बीच अमर सिंह ने इसकी शिकायत विजिलेंस विभाग को कर दी।

बिजनेस की टीम ने शुक्रवार को जब अमर सिंह कर्मचारी नरेंद्र को ₹8000 देने के लिए आया। तो विजिलेंस की टीम ने पैसो पर पाउडर लगाकर अमर सिंह को दे दिए। जैसे ही राशि नरेंद्र को दी गई। तो अमर सिंह ने विजिलेंस की टीम को इशारा कर दिया। जिसके बाद बिजनेस की टीम ने नरेंद्र को रंगे हाथों दबोच लिया।

नरेंद्र के पास से पाउडर लगे हुए भी बरामद कर लिए गए हैं। अभी नरेंद्र से पूछताछ की जा रही है। देर शाम बी के अस्पताल में मेडिकल भी करवाया जाएगा।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More