HomeCrimeअपना नाम सुनने के बाद वाहनों को न रोके, जानिए क्या है...

अपना नाम सुनने के बाद वाहनों को न रोके, जानिए क्या है क्राइम करने की नई ट्रिक

Published on

सड़क पर वाहन चलाते वक्त कई बार आपको ऐसा लगा होगा कि कोई व्यक्ति आपको पीछे से आवाज दे रहा है। जिसके चलते आप अपने वाहन को रोक लेते हैं । इसी हथकंडे को अपनाते हुए अपराधिक वारदात को अंजाम दे रहा है।

इस डीसीपी हेडक्वार्टर द्वारा लोगों को जागरूक किया जा रहा है। डीसीपी हेडक्वार्टर डॉक्टर अर्पित जैन द्वारा 21 फरवरी को ट्विटर पर एक ट्वीट किया है। जिसमे उनके द्वारा एक महत्वपूर्ण सूचना दी है।

अपना नाम सुनने के बाद वाहनों को न रोके, जानिए क्या है क्राइम करने की नई ट्रिक

कि हाईवे पर यात्रा करते समय आपके पीछे वाहन से कोई व्यक्ति मोबाइल पर आपके वाहन की संख्या को ऐप पर खोज कर आपका नाम पता करता है। फिर वह उसी नाम से पुकारता है और कार साइड में रोकने व पार्क करने के लिए कहता है।

आप सोचते हैं कि हमें अपने नाम से बुलाना वाला कोई अनजान व्यक्ति नहीं है। वह कोई आपका जानकर ही होगा और आप अपने वाहन को रोक देते है । लेकिन आपको पता नही होता कि आप किसी अपराधिक घटना का शिकार होने वाले है। जिसके बाद आप के साथ कोई क्राइम हो जाता है।

अब आपको इस तरह की ट्रिक से बचना होगा। क्योंकि इस तरह के ट्रिक से आपके साथ किसी प्रकार की कोई भी घटना हो सकती है।

डीसीपी हेडक्वार्टर डॉक्टर अर्पित जैन का कहना है कि सावधान और सतर्क रहें और अपने वाहनों को कभी भी ना रोके। अपराधिक घटनाओं को अंजाम देने के लिए लॉकडाउन के चलते लूटपाट व अन्य क्राइम को अंजाम देने के लिए यह नए तरीका लांच किया गया है। इसको लेकर डीसीपी हेडक्वार्टर द्वारा ट्विटर पर ट्वीट करके लोगों को जागरूक किया जा रहा है।

अपना नाम सुनने के बाद वाहनों को न रोके, जानिए क्या है क्राइम करने की नई ट्रिक

डीसीबी हेड क्वार्टर डॉक्टर अर्पित जैन द्वारा ट्विटर पर ट्वीट करके लिखा गया है की सतर्क रहें सावधान रहें। महामारी के दौरान आरोपियों के द्वारा क्राइम को अंजाम देने के लिए इस तरह की ट्रिक का इस्तेमाल किया गया है। जिसकी वजह से कई क्राइम जिले में घटित हुई है।

उनका कहना है कि अगर वाहन चलाते वक्त कोई आपको पीछे से आवाज लगाता है और आपको लगता है कि वह आपका जानकार है तो पूरी सावधानी और सतर्कता भरते।

अपना नाम सुनने के बाद वाहनों को न रोके, जानिए क्या है क्राइम करने की नई ट्रिक

जिससे कि आपके साथ होने वाली घटना से पहले ही आप सक्रिय हो जाए और आपके साथ घटित होने वाली घटना को आप आसानी से रोक सकते हैं। इसके लिए आपको अपने साथ-साथ अपने परिजनों व आसपास रहने वाले लोगों को भी जागरूक करना चाहिए। ताकि वह इस तरह के ट्रिक का शिकार ना हो सके

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...