HomeCrimeनौकरी का झांसा देकर असम से लाई गई 5 लड़कियों को पुलिस...

नौकरी का झांसा देकर असम से लाई गई 5 लड़कियों को पुलिस ने करवाया मुक्त

Published on

फरीदाबाद: थाना डबुआ प्रभारी इंस्पेक्टर सोहनपाल की टीम ने नौकरी का झांसा देकर असम से लाई गई 5 लड़कियों को मुक्त करवाकर 1 महिला सहित 2 आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

पुलिस उपायुक्त डॉ अर्पित जैन ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि पाँचों लड़कियां असम से लाई गई थी जिनको गलत धंधों में धकेलने की कोशिश की जा रही थी परन्तु कैद की गई 16 वर्षीय किशोरी की सूचना पर पुलिस टीम ने सभी लड़कियों को मुक्त करवाने में सफलता हासिल की है।

नौकरी का झांसा देकर असम से लाई गई 5 लड़कियों को पुलिस ने करवाया मुक्त

मुक्त करवाई गई लड़कियों में से एक की शिकायत के आधार पर थाना डबुआ में आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 370, 34 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में आरोपी इजाबुल हक व रुही उर्फ शान्ति माया का नाम शामिल है।
आरोपी इजाबुल हक पुत्र जोमबार असम के बारुडगा का रहने वाला है वहीँ आरोपी रुही उर्फ शान्ति माया पुत्री जय बहादुर नागालैण्ड के दीमापुर की रहने वाली है।

मुक्त कराई गई किशोरियों को बाल कल्याण समिति व लड़कियों को जज साहब के सामने बयान करवाकर कानूनी कार्यवाही पूरी करने के पश्चात् उन्हें सकुशल उनके परिजनों के हवाले कर दिया गया।

नौकरी का झांसा देकर असम से लाई गई 5 लड़कियों को पुलिस ने करवाया मुक्त

किशोरी ने अपने ब्यान में बताया कि उसकी बहन की सहेली उसे नौकरी का झांसा देकर पहले उसे सिलीगुड़ी लेकर गई और बाद में उसे 2 अन्य लड़कियों के साथ डबुआ, फरीदाबाद पहुंचा दिया गया।

डबुआ में तीनों लड़कियों को एक कमरे में बंद कर दिया गया जिसमे 1 महिला और 1 युवती पहले से मौजूद थी जिन्हें 10 दिन पहले ही वहां लाया गया था।जब किशोरी ने उनके साथ बातचीत शुरू की तो उसे पता चला कि उन्हें यहाँ गलत धंधा करवाने के लिए लाया गया है।

यह सुनकर लड़की सहम गई परन्तु उसने हिम्मत नहीं हारी और रात को मौका पाकर किशोरी ने अपने पास छुपाए हुए फ़ोन से पुलिस को सूचना दी कि वह किसी अनजान जगह पर बंद है और उसे जगह का नाम-पता कुछ मालूम नहीं है।

सूचना मिलते ही पुलिस हरकत में आ गई और साइबर तकनीक का प्रयोग करते हुए थाना डबुआ प्रभारी इंस्पेक्टर सोहनपाल की अगुवाई में ASI दिनेश, ASI रजनी, महिला सिपाही प्रियंका व टीम ने कड़ी मुशक्कत करने के पश्चात् कमरे की तलाश की और 5 लड़कियों को वहां पर कैद पाया।

पुलिस टीम ने सभी बंधकों को वहां से मुक्त करवाया गया।आरोपी मौके से फरार हो गए जिन्हें बाद में गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर डबुआ से गिरफ्तार कर लिया गया।

दोनों आरोपियों को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है और इस धंधे में शामिल अन्य आरोपियों की पुलिस तलाश कर रही है जिन्हें जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...