Online se Dil tak

यात्रा के दौरान लोगों को बताई भूजल के स्तर को बढ़ाने की तरकीब

रविवार को सेव अरावली ट्रस्ट द्वारा दो अलग-अलग स्थानों पर अरावली यात्रा का आयोजन किया गया। पहली अरावली यात्रा जोकि कोर्ट और सिरोही के बीच बनी सिरोही झील पर करवाई गई।

जिसका नेतृत्व से अरावली के सदस्य रमेश अग्रवाल और राजीव भाटिया जी ने किया। इस यात्रा में एनसीआर के तकरीबन डेढ़ सौ से 200 लोगों ने हिस्सा लिया।

यात्रा के दौरान लोगों को बताई भूजल के स्तर को बढ़ाने की तरकीब
यात्रा के दौरान लोगों को बताई भूजल के स्तर को बढ़ाने की तरकीब

यात्रा में लोगो को अरवाली के पहाड़ो की दुर्दशा दिखाई गई। उनको बताया कि पहाड़ो से पत्थर निकालने के लिए इतनी ज्यादा गहराई तक खोदा गया कि भू जल बाहर निकल आया।

यात्रा के दौरान लोगों को बताई भूजल के स्तर को बढ़ाने की तरकीब
यात्रा के दौरान लोगों को बताई भूजल के स्तर को बढ़ाने की तरकीब

जिसके बाद बड़ी बड़ी मोटर के माध्यम से उक्त जल को वापिस नहर में दाल दिया गया। जिस का परिणाम यह हुआ कि फरीदाबाद का भूजल तेजी से नीचे गिरने लगा। आज हालात ऐसे हैं कि कई कई जगह तो भूजल 500 फिट से भी नीचे चला गया है।

यात्रा के दौरान लोगों को बताई भूजल के स्तर को बढ़ाने की तरकीब
यात्रा के दौरान लोगों को बताई भूजल के स्तर को बढ़ाने की तरकीब

इस मौके पर मौजूद लोगों को यह भी बताया गया कि वह कैसे अपने एरिया में रैन वाटर हारवेस्टिंग को बना सकते है। इसके लिए उनको एक जगह चाहिए जिसके बाद वह सेक्टरों व सड़कों पर इक्कठ्ठा होने वाले बरसात के पानी को रैन वाटर हारवेस्टिंग के जरिए भू जल के स्तर को बढ़ा सकते है।

यात्रा के दौरान लोगों को बताई भूजल के स्तर को बढ़ाने की तरकीब
यात्रा के दौरान लोगों को बताई भूजल के स्तर को बढ़ाने की तरकीब

इस मौके पर पवन सोलंकी, योगेश शर्मा, अभिषेक, सुशील भड़ाना, संजय मावी, सुनील बिधूड़ी, आशीष मंगला, अनीश भाटिया, हिरेन गुप्ता आदि ने हिस्सा लिया।


वहीं दूसरी यात्रा जोकि अनंगपुर के जंगलों में बनी कृतिम झील भारद्वाज झील पर करवाई गई। इस मे ELITECISO ग्रुप के तकरीबन 40 मेम्बर्स ने हिसा लिया। मेंबर के द्वारा अरवाली कि खूबसुर्ती का आनंद उठाया गया।

यात्रा के दौरान लोगों को बताई भूजल के स्तर को बढ़ाने की तरकीब
यात्रा के दौरान लोगों को बताई भूजल के स्तर को बढ़ाने की तरकीब

ग्रुप के सदस्यों ने अरवाली के लिए कुछ करने का संकप लिया और कहा की अरवाली को दुबारा जंगल बनाने और ट्री लगने में पूरा योगदान देंगे। इस ग्रुप का नेतृत्व सेव अरवाली के सदस्य धंनजय खन्ना, कैलास बिधूड़ी, सुचिचता खन्ना और जितेंद्र भड़ाना ने किया।

Read More

Recent