Pehchan Faridabad
Know Your City

फरीदाबाद तेजी से बढ़ रहे है कोरोना मरीज, 24 घंटे में आए 24 मरीज

फरीदाबाद में कोरोना संक्रमित के मामले थमने का तो नाम ही ले रहा। फरीदाबाद में इन दिनों जिस तरीके से लगातार कोरोना संक्रमित के मरीज बढ़ रहे हैं इससे तो यही लगता हैं कि कोरोना संक्रमण को रोकने में जिला प्रशासन के सभी प्रयास फ़ैल हो रहे हैं उनके सभी प्रयासों को शहर की जनता विफल करने में लगी हैं। इसको तो यहीं लगता हैं कि जनता कोरोना संक्रमण को बिल्कुल हलके में लेना शुरू कर दिया हैं।

अब तक जिले में कोरोना संक्रमित के मरीजों की संख्या बढ़ कर 209 हो गई हैं, जोकि कल के मुकाबले कुल 16 मरीज ज्यादा हैं और इनमें से अब तक कुल 115 मरीज ठीक हुए हैं।


इसके बाद दो नए और केस आए हैं। इन सभी को मिलाकर यह संख्या 209 पर पहुंच गई है। रविवार की सुबह से तीन नए केसों में बल्लभगढ़ की भगतसिंह कालोनी से एक 15 वर्षीय बच्ची है, इसकी कोई भी पहले की हिस्ट्री स्वास्थ्य विभाग के पास नहीं है।

उसे घर पर ही रहने व चिकित्सा लेने की सलाह दी गई है। दूसरा मरीज ऑटोपिन झुगगी से है, जिसकी उम्र 35 वर्ष बताई गई है। यह अपने पड़ोसी की वजह से कोरोना की चपेट में आया है। तीसरा केस बल्लभगढ़ की चावला कालोनी स्थित सौ फुट रोड से आया है, इनकी उम्र 55 वर्ष बताई गई है। यह डबुआ में रहने वाले किसी पहचान वाले के चलते पॉजीटिव हुए हैं।

इन सभी को मिलाकर फरीदाबाद में कुल पॉजीटिव की संख्या 209 हो गई है। इन सब के अलावा फरीदाबाद में एक युवक की मौत ने भी स्वास्थ्य विभाग को परेशानी में डाल दिया है। कोरोना के भीषण संकट में एक युवक की मौत ने स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ा दी है।

हालांकि विभाग के अधिकारियों का कहना है कि युवक की मौत कोरोना की वजह से नहीं हुई है, मगर उसका दाह संस्कार कोविड-19 नियम के अनुसार ही करवाया गया है। जानकारी के अनुसार सैक्टर 21 बी में रहने वाले 21 वर्षीय युवक की रविवार को मौत होने की खबर आई। बताया गया है कि बिहार से ताल्लुक रखने वाला यह परिवार सैक्टर 21बी में किराए पर रहता है।

बताया गया है कि युवक की तबियत खराब हो गई थी और रविवार को उसकी मृत्यु हो गई। इस खबर के बाद प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के माथे पर पसीना आ गया। हालांकि स्वास्थ्य अधिकारी डा. रामभगत का कहना है कि युवक की मौत कोरोना की वजह से नहीं हुई है, मगर सुरक्षा कारणों के चलते उसका दाहसंस्कार कोविड-19 के नियमों के अंतर्गत अवश्य किया गया है।

विभाग के अनुसार मृतक के कोरोना सैंपल लिए गए हैं, जिन्हें जांच के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही तय हो पाएगा कि युवक की मौत का असली कारण क्या था। आपको बता दें कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड-19 नियम के तहत किसी भी पॉजीटिव केस की पहचान उजागर नहीं की जाती है।

मीडिया को केवल लोकेशन ही बताई जाती है। इसलिए आपसे निवेदन है कि किसी भी पॉजीटिव के संदर्भ में जानकारी ना मांगे। वहीं रविवार को अब कुल संख्या 209 पर पहुंच गई है। वहीं प्रशासन का कहना है कि कोरोना से 118 लोग ठीक भी हुए हैं, जिन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है।
इस आपदा से बचने के लिए हम सबको स्वयं ही तैयार होना होगा

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More