Homeफरीदाबाद के इन इलाकों में जाएं तो रहें सावधान, झपटमार लूटेरे रहते...

फरीदाबाद के इन इलाकों में जाएं तो रहें सावधान, झपटमार लूटेरे रहते हैं लूटने को तैयार

Published on

जिले में आये दिन झपटमारी की वारदातें सुनने को मिल जाती है। लूटमार के मामलों में भी इज़ाफ़ा हो रहा है। लगातार बढ़ती ऐसी वारदातों से जनता सहम गयी है। शहर में एकाएक चोरी झपटमारी के मामले बढ़ते जा रहे हैं। कोई भी ऐसा इलाका नहीं है शहर में जहां आप सुरक्षित महसूस कर सकें। 1 दिन में 2-3 वारदातें तो जिले में हो रही हैं।

ऐसे बहुत से इलाके में शहर में जो सुनसान रहते हैं। ग्रेटर फरीदाबाद हो या एनआईटी की कॉलोनी की तरफ। ऐसी सुनसान जगहों पर अपराधी हमेशा आपको लूटने को तत्पर रहते हैं।

फरीदाबाद के इन इलाकों में जाएं तो रहें सावधान, झपटमार लूटेरे रहते हैं लूटने को तैयार

इन इलाकों में अपराधी सबसे अधिक वारदातों को अंजाम देते हैं।

1, ग्रेटर फरीदाबाद – यहां पर शाम होते ही सड़कों पर वीरानी छा जाती है। ऐसे में अकेले निकलना यहां पर खतरे से खाली नहीं होता है। किसी भी समय आपको अपराधी अपना शिकार बना सकता है।

2, एनआईटी – फरीदाबाद का सबसे प्रसिद्ध इलाका एनआईटी माना जाता है। यहां की मार्किट काफी प्रचलित हैं। लोग यहां दूर – दूर से खरीददारी करने आते हैं। यहां पर अपराधी काफी चौकस रहते हैं। झपटमारी की वारदातें यहां आम बात है।

फरीदाबाद के इन इलाकों में जाएं तो रहें सावधान, झपटमार लूटेरे रहते हैं लूटने को तैयार

3, बायपास रोड – इस रोड पर निकलना काफी हिम्मत का काम होता है। यहां लूटेरे अक्सर पेड़ों पर भी चढ़ कर वारदात को अंजाम देने की फिराक में बैठे रहते हैं।

4, बल्लभगढ़ बाज़ार – इस इलाके में भी बहुत अधिक स्नेचिंग की घटनाएं होती हैं, जिसका मुख्य कारण बाजार में होने वाली लोगों की भीड़ है। पुलिस की मौजूदगी भी यहां कम है।

5, सेक्टर 30 की सड़क – इस सड़क पर सन्नाटा पसरा रहता है। ऐसे में अक्सर मेट्रो स्टेशन से निकलकर पैदल जाने वाले लोग स्नेचरों का निशाना बनते हैं।

फरीदाबाद के इन इलाकों में जाएं तो रहें सावधान, झपटमार लूटेरे रहते हैं लूटने को तैयार

6, ओल्ड फरीदाबाद – यहां भी मार्केट की तरफ अक्सर चोर मोबाइल पर्स व जेवरात छीन कर भाग जाते हैं। यहां की गलियां भी काफी छोटी – छोटी हैं।

7, सेक्टर 12 का क्षेत्र – इस क्षेत्र में भी छापेमारी की वारदातों की संख्या ज्यादा है इसका कारण यहां सड़कों पर पसरा सन्नाटा है। यहां बहुत सी सड़कों पर विरानीयत पसरी रहती है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...