HomeFaridabadएक हफ्ते में फिर बदले कंटेनमेंट जोन की लिस्ट, 10 की बजाय...

एक हफ्ते में फिर बदले कंटेनमेंट जोन की लिस्ट, 10 की बजाय 12 तक पहुचीं संख्या

Published on

स्वास्थ्य विभाग के द्वारा मंगलवार को नई कंटेनमेंट जोन लिस्ट की घोषणा की गई है। जिसमें 12 कंटेनमेंट जोन घोषित किए गए हैं। बताया जा रहा है इस लिस्ट में संजय कॉलोनी, सेक्टर 17 और सेक्टर 11 को जोड़ा गया है।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 26 फरवरी को एक कंटेनमेंट जोन लिस्ट घोषित की गई थी। जिसमें जिले के 10 जोन को कंटेनमेंट जोन के अंदर रखा गया था।

एक हफ्ते में फिर बदले कंटेनमेंट जोन की लिस्ट, 10 की बजाय 12 तक पहुचीं संख्या

लेकिन मंगलवार को दोबारा से एक नई कंटेनमेंट जोन के लिए घोषित की गई है। जिसमें 10 की बजाय अब 12जोन रखे गए हैं। जिसमें एनआईटी तीन नंबर, एनआईटी पांच नंबर, ग्रीन फील्ड कॉलोनी, सेक्टर 7, सेक्टर 49 सैनिक कॉलोनी, सेक्टर 28,  सेक्टर 15, संजय कॉलोनी, सेक्टर 16, सेक्टर 17 व सेक्टर 11 रखा गया है।

इन सेक्टरों में कुछ मकानों को कंटेनमेंट जोन के अंदर घोषित किया गया है। जो कि एक गली के अंदर हो सकते हैं या पिछली गली में भी हो सकते हैं। एक गली से कम से कम 4 से 5 मकानों को कंटेनमेंट जोन के अंदर रखा गया है।

एक हफ्ते में फिर बदले कंटेनमेंट जोन की लिस्ट, 10 की बजाय 12 तक पहुचीं संख्या

डिप्टी सीएमओ डॉ राम भगत ने बताया कि कंटेनमेंट जोन जो लिस्ट डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के द्वारा घोषित की गई है। उसमें सबसे ज्यादा कोविद-19 के मरीज पाए गए हैं। इसीलिए उस एरिया को कंटेनमेंट जोन के अंदर रखा गया है। डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के अनुसार कंटेनमेंट जोन में पहले की तरह के नियमों को सख्ती से पालन करना होगा। अगर लापरवाही बरती गई तो कार्यवाही भी हो सकती है।

क्योंकि देश के कई राज्यों में कोविद के मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। जिसकी वजह से स्वास्थ्य विभाग के द्वारा पूरी सावधानी बरती जा रही है। कुछ दिन पहले दिल्ली और गुड़गांव में भी कोविद के मरीजों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है।

एक हफ्ते में फिर बदले कंटेनमेंट जोन की लिस्ट, 10 की बजाय 12 तक पहुचीं संख्या

इसीलिए फरीदाबाद जिले के द्वारा भी पूरी तैयारी की जा रही है। ताकि यहां पर भी कोविद के मरीजों की संख्या में किसी प्रकार का कोई इज़ाफ़ा न हो।

जिला मजिस्ट्रेट यशपाल यादव ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में कंटेनमेंट जोन में 1000 मीटर क्षेत्र व शहरी क्षेत्र में 200 मीटर क्षेत्र को बफर जोन बनाया गया है। कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य पर निगरानी रखी जाएगी।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...