Online se Dil tak

नौनिहालों को सता रहा है बुखार का डर, प्रदेश में इतने बच्चे आये चपेट में


हरियाणा में बहुत समय बाद स्कूल खोले गए लेकिन जैसे ही स्कूल खुले बच्चों को मौसमी बुखार और महामारी ने जकड़ना शुरू कर दिया अभी तक हरियाणा में लगभग सभी जिलों की स्थिति सामने आने के बाद प्रदेश में स्कूलों को 10 दिन के लिए बंद कर दिया गया है।

हालांकि सरकार ने पूरे नियमों को ध्यान में रखते हुए स्कूल खोले थे लेकिन उसके बाद भी बच्चे महामारी के संपर्क में आने लगे थे साथ ही मौसम में बदलाव होने के कारण बच्चों में मौसमी बुखार के भी लक्षण नजर आ रहे हैं।

नौनिहालों को सता रहा है बुखार का डर, प्रदेश में इतने बच्चे आये चपेट में
नौनिहालों को सता रहा है बुखार का डर, प्रदेश में इतने बच्चे आये चपेट में


हरियाणा सरकार ने महामारी के चलते बंद पड़े स्कूलों को जनवरी में खोला था साथ ही 1 मार्च से पहली और दूसरी कक्षाएं भी शुरू हो गई थी प्रदेश में अब 2433 छात्रों का तापमान 99 डिग्री फॉरेनहाइट से अधिक मिला है ।

अगर बात करें तो यह सिलसिला करीब 1 सप्ताह से चल रहा है 3 दिन से पहली व दूसरी की कक्षाएं भी लग रही हैं जिसके कारण छोटे नौनिहालों में मौसमी बुखार देखा जा रहा है आंकड़ों की बात करें तो पिछले दो दिनों में प्रदेश में 742 बच्चे ऐसे मिले हैं ।

नौनिहालों को सता रहा है बुखार का डर, प्रदेश में इतने बच्चे आये चपेट में
नौनिहालों को सता रहा है बुखार का डर, प्रदेश में इतने बच्चे आये चपेट में

जिनके शरीर का तापमान 99 डिग्री से अधिक था वही फरवरी के अंतिम सप्ताह में 16 से 91 बच्चे बुखार से ग्रसित पाए गए साथी पिछले दो दिनों में प्रवेश में 29 अध्यापकों के शरीर का तापमान भी 99 से अधिक मिला है

प्रदेश में सर्वाधिक महेंद्रगढ़ जिला में 4 अध्यापक तो कैथल में 83 स्कूल बच्चों में बुखार के लक्षण मिलने के बाद उन्हें 10 दिन के लिए घर पर रहने के लिए कहा है


हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने कहा कि अभी इस बात की पुष्टि नहीं है कि बच्चों में कोरोनावायरस में बुखार है एहतियात के तौर पर सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं

नौनिहालों को सता रहा है बुखार का डर, प्रदेश में इतने बच्चे आये चपेट में
नौनिहालों को सता रहा है बुखार का डर, प्रदेश में इतने बच्चे आये चपेट में

कि बच्चों को 10 दिन के लिए घर भेज दिया जाए उधर स्वास्थ्य विभाग का भी निर्देश दिए गए हैं कि वह पहल के आधार पर बच्चों की जांच करें

धीरे-धीरे स्कूल में बच्चों की घट रही है संख्या


हरियाणा में स्कूली बच्चों में मौसमी बुखार और महामारी के लक्षण दिखाई दे रहे हैं जिस कारण बच्चों की स्कूल में उपस्थिति लगातार घट रही है 26 फरवरी से पहले छात्रों को औसतन उपस्थिति 76% को पार कर चुकी थी लेकिन पिछले 3 दिन से यह आज की लगातार कम हो रही है

नौनिहालों को सता रहा है बुखार का डर, प्रदेश में इतने बच्चे आये चपेट में
नौनिहालों को सता रहा है बुखार का डर, प्रदेश में इतने बच्चे आये चपेट में

सरकार द्वारा बुधवार को प्रदेश के सभी जिलों से रिपोर्ट मांगी गई रिपोर्ट के अनुसार पिछले 2 दिनों के भीतर राज्य के सभी जिलों में पहली कक्षा में 26% ही बच्चे स्कूल पहुंचे।

बताते है आंकड़े

हरियाणा हरियाणा के इन शहरों में इतने बच्चे बुखार के लक्षण दिखाई दिए हैं अंबाला में 33 बच्चे विधु अध्यापक भिवानी में 56 बच्चे चरखी दादरी में 12 बच्चे एक अध्यापक फरीदाबाद में 48 बच्चे फतेहाबाद में 63 बच्चे व 2 अध्यापक गुरुग्राम में 33 बच्चे हिसाब में 21 बच्चे झज्जर में 27 बच्चे जींद में 49 बच्चे के दो अध्यापक कैथल में 83 बच्चे कुरुक्षेत्र में 36 बच्चे व दो अध्यापक महेंद्रगढ़ में 22 बच्चे व 4 अध्यापक मुंह में 22 बच्चे और पलवल में 12 बच्चे बुखार से पीड़ित पाए गए है

प्रदेश में प्राइवेट स्कूलों पर है सरकार की नजर

सरकारी स्कूलों के साथ-साथ अब सरकार प्रदेश भर में निजी स्कूलों पर भी नजर रखेगी हरियाणा में कोरोना के बाद खोले जाने पर सरकार जहां सरकारी स्कूलों से रिपोर्ट ले रही है ।

वहीं निजी अस्पतालों पर भी नजर रखी जा रही है सरकार द्वारा प्रदेश के अलग-अलग जिलों में कुल 821 प्राइवेट स्कूल से इस संबंध में रिपोर्ट मांगी गई है जिनमें से 310805 विद्यार्थी पढ़ते हैं सर्वे में यह पता चला कि औसतन 8% अर्थात 2 लाख 11 हज़ार 32 विद्यार्थी स्कूल आ रहे हैं

Read More

Recent