Online se Dil tak

नो रोड नो वोट वाली सड़क, तीन साल बाद आखिरकार बन ही गई

प्रिंसेस पार्क के एम टावर के गेट से मास्टर रोड को कनेक्ट करने वाली 500 मीटर की रोड 3 साल से बनी नहीं थी। जिसकी वजह से आसपास रहने वाले लोगों को उस रास्ते से निकलने में काफी परेशानी हो रही थी।

विधायक बदलते गए, रोड पर लगे पत्थर भी बदल गए लेकिन किसी के द्वारा सड़क का निर्माण नहीं करवाया। उसके बाद स्थानीय लोगों ने काफी मशक्कत की।

नो रोड नो वोट वाली सड़क, तीन साल बाद आखिरकार बन ही गई
नो रोड नो वोट वाली सड़क, तीन साल बाद आखिरकार बन ही गई

जिसके बाद नगर निगम फरीदाबाद के द्वारा उस सड़क को बनाने का कार्य शुरू कर दिया गया है। यह सड़क करीब 500 मीटर लंबाई और 11 फीट की चैड़ी सड़क है। इस सड़क के बनने के बाद प्रिंसेस पार्क के एम टावर ग्रेट को भी खोल दिया जाएगा। ताकि वहां से लोगों का आवागमन शुरू हो सके।

नो रोड नो वोट वाली सड़क, तीन साल बाद आखिरकार बन ही गई
नो रोड नो वोट वाली सड़क, तीन साल बाद आखिरकार बन ही गई


प्रिंसेस पार्क में रहने वाले अरुमल चक्रवर्ती ने बताया कि इस रास्ते से सैकड़ों की संख्या में रोज वाहनों का आवागमन होता है। सड़क नहीं बना होने की वजह से कई गाड़ियों को नुकसान भी पहुंच चुका है और दुपहिया वाहनों का एक्सीडेंट भी हो चुका है।

नगर निगम के काफी चक्कर या फिर यू कहें कि सैकड़ों की संख्या में कंप्लेंट लगाने के बाद आखिरकार इस सड़क का मुहूर्त हो ही गया और सड़क का निर्माण कार्य शुरू हो गया है। उन्होंने बताया कि पहले सड़क का निर्माण कार्य टेंडर नहीं होने की वजह से नहीं हो पा रहा रहा था।

नो रोड नो वोट वाली सड़क, तीन साल बाद आखिरकार बन ही गई
नो रोड नो वोट वाली सड़क, तीन साल बाद आखिरकार बन ही गई

जोकि नगर निगम के कर्मचारियों के द्वारा बताया जा रहा है। लेकिन कहते है ना कि अंत भला तो सब भला। इसलिए सडक बनने से सैकड़ों लोगों को काफी सुविधा होगी।

इस रोड के लिए कई विरोध

स्थानीय लोगों ने बताया कि इस रोड के लिए उनके द्वारा कई तरह का विरोध प्रर्दशन किया गया। जिसमें एक तो यह था कि उन्होनंे सोसाइटी के गेट पर एक बैनर को लगाया था। जिसमें लिखा था नो रोड नो वोट। उस दौरान विधायक के चुनाव होने वाले थे। जिसके बाद उस एरिया में कोई भी प्रत्याशी वोट मांगने के लिए आया ही नहीं।

Read More

Recent