Pehchan Faridabad
Know Your City

सदियों से पाकिस्तान और इंग्लैंड में रखी गीता लाई जाएगी हरियाणा, जानिए इससे जुड़ी खास बातेें

गीता मनुष्य को जीना सीखाती है। गीता में हर एक उस सवाल का जवाब है जो मनुष्य खोजता है। देश समेत पप्रदेश की धर्मनगरी कुरुक्षेत्र में प्रदेश व देश के पहले गीता लघु संग्रहालय की सौगात मिल गयी है। यह संभवत विश्व का गीता आधारित लघु संग्रहालय भी होगा। इसमें थीम से लेकर हर चीज गीता से जुड़ी है।

हरियाणा के कुरुक्षे‍त्र में ही भगवान कृष्ण ने गीता का ज्ञान दिया था। उस दिन तिथि एकादशी थी। हरियाणा की यह धरती काफी पवित्र है। अब इस लघु संग्रहालय में गीता ज्ञान संस्थानम् में इसके प्रथम चरण का मूर्त रूप दिया गया है।

भारत समेत विश्व में गीता की मांग बढ़ती जा रही है। काफी विदेशी गीता पढ़े बिना रह नहीं सकते हैं। बहरहाल, इस संग्रहालय की खास बात यह रहेगी कि आजादी की लड़ाई में गीता के महत्व और विश्व के प्रमुख चिंतनकारों की कही बातों को प्रमुख रूप से उकेरा गया है। महाभारत के 18 अध्यायों में से 1 भीष्म पर्व का हिस्सा है भगवत गीता।

हम सभी को सिर्फ और सिर्फ अपने कर्म के ऊपर ध्यान देना चाहिए। यह सबसे बड़ी सीख गीता हमें सिखाती है। इस संग्रहालय में इंग्लैंड की ब्रिटिश लाइब्रेरी और पाकिस्तान के लाहौर स्थित महाराजा रणजीत सिंह लाइब्रेरी में रखी गीता या उसकी प्रतिलिपि को लाया जाएगा।

इस कलयुग में हम भूल गए हैं कि जो कर्म हम कर रहे हैं वह हम सब लौटकर जरूर आएंगे। लगातार पाप के मार्ग पर हम सभी चलते जाते हैं अंजान बनकर लेकिन भूल जाते हैं यह कर्म वापस हमें ज़रूर मिलेंगे।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More