Online se Dil tak

नहीं होता सीएम विंडो पर शिकायतों का समाधान, कहाँ करे अधिकारियों की शिकायत ?

सी॰एम॰ विंडो के बारे में बोला जाता है कि यहाँ पर आप अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है और उस पर 24 घंटे में आपकी समस्या का समाधान होगा। अगर हमारी समस्या कोई भी अधिकारी नहीं सुनता है तो हम अपना रूख सीएम विंडो की तरफ़ कर लेते है।

लोगों को यह आस रहती है कि अगर कोई अधिकारी हमारी नहीं सुनता तो सीएम विंडो पर तो ज़रूर सुनवाई होगी ही। जब सीएम विंडो ही भ्रष्टाचार में संलिप्त हो तो आम आदमी किधर जाएगा ऐसा कहना है फ़रीदाबाद निवासी केतन सूरी का। दरअसल केतन सूरी ने 2019 में एक सीएम विंडो सेक्टर-12 में अपनी शिकायत दर्ज करायी थी।

नहीं होता सीएम विंडो पर शिकायतों का समाधान, कहाँ करे अधिकारियों की शिकायत ?
नहीं होता सीएम विंडो पर शिकायतों का समाधान, कहाँ करे अधिकारियों की शिकायत ?

आईपी कॉलोनी निवासी केतन सूरी की प्रॉपर्टी है जिसमें उन्होंने बेस्मेंट निकलवा रखा है। और उनकी बिल्डिंग के ऊपर अवैध रूप से 5 मंज़िला इमारत खड़ी कर रखी है जो मुख्य रूप से अवैध और ग़ैरक़ानूनी है।

https://fb.watch/489rmeJqOY/
उन्होंने कहा, मैंने काफ़ी बार इसकी शिकायत की परंतु मेरी किसी ने नहीं सुनी और ज़बरन SDO और JEE ने मेरे हशताक्षर ले लिए जोकि मैं सहमत नहीं था। और मेरी सीएम विंडो की शिकायत बंद कर दी।

एसडीओ और जेईई ने केतन सूरी से कहा कि अगर आप अपनी शिकायत वापस नहीं लेंगे तो आपका काफ़ी नुक़सान हो जाएगा। अब जन सेवक का यह कहना कितना जायज है वो तो उच्च अधिकारी बख़ूबी जानते होंगे। केतन सूरी ने सितम्बर में एक और सीएम विंडो पर शिकायत दर्ज करवाई थी

नहीं होता सीएम विंडो पर शिकायतों का समाधान, कहाँ करे अधिकारियों की शिकायत ?
नहीं होता सीएम विंडो पर शिकायतों का समाधान, कहाँ करे अधिकारियों की शिकायत ?

परंतु अधिकारियों ने बिना किसी कारण बताए उसको भी बंद कर दिया। हाल ही में केतन निगमायुक्त यशपाल यादव से मिलने गए परंतु समय ना मिल पाने की वजह से वापस लौट गए।

राजनीति में सक्रिय अनिल विज से भी उन्होंने गुहार लगायी परंतु हताशा ही हाथ लगी। प्रशासनिक अधिकारी कार्यवाही करने की बजाय उनको डरा और धमका रहे है। अगर आम जनता की शिकायत यहाँ नहीं सुनी जाएगी तो शायद उन्हें अपनी शिकायत के लिए कोई अन्य ग्रह तलाशना शुरू कर देना चाहिए।

Read More

Recent