Online se Dil tak

वाहन चारों का है बोल बाला, पुलिस की गस्त पड़ रही है सुस्त

वैसे तो पुलिस प्रशासन के द्वारा दावा किया जाता है कि उनकी पुलिस के द्वारा दिन व रात के समय गस्त की जाती है। लेकिन उसके बावजूद भी वाहनों चोरों को बोल बाला है।

अगर आपके पास भी वाहन है और आप किसी न किसी काम के चलते अपने वाहन को किसी दुकान, किसी झार के बाहर पार्क करके कुछ समय के लिए कहीं चले जाते है तो आप हो जाए सावधान क्योंकि वाहनों चारों के गिरोह की नजर आपके वाहन पर हमेशा टिकी रहती है।

वाहन चारों का है बोल बाला, पुलिस की गस्त पड़ रही है सुस्त
वाहन चारों का है बोल बाला, पुलिस की गस्त पड़ रही है सुस्त

अगर हम आकड़ों की बात करे तो एक ही दिन में जिले की विभिन्न जगहों से 5 वाहन चोरी होने के मामले दर्ज हुए है। इससे ऐसा माना जाता है कि पुलिस से ज्यादा तो चोर चुस्त नजर आ रहे है।

थाना ओल्ड फरीदाबाद पुलिस से मिलजी जानकारी के अनुसार सराय ख्वाजा निवासी ईदरीश ने बताया कि भूड़ कालोनी ओल्ड फरीदाबाद मे राजधानी चिकन शाप नाम से दूकान हैं। जहां पर 6 मार्च को शाम करीब 11 बजे उन्होंने अपनी बाइक मैने अपनी मोटरसाईकिल को अपनी दुकान से थोड़ी आगे लोक करके खड़ी की थी।

वाहन चारों का है बोल बाला, पुलिस की गस्त पड़ रही है सुस्त
वाहन चारों का है बोल बाला, पुलिस की गस्त पड़ रही है सुस्त

जो उन्होंने अपनी मोटरसाईकिल अपने चाचा के लड़के गुलफान के नाम से निकलवाई थी। 7 मार्च की सुबह करीब 7 बजे दिल्ली जाने के लिए दुकान के बाहर आया तो बाईक वहां पर नहीं थी।

वहीं थाना खेड़ी पुल पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गांव मवई निवासी महोम्मद राज अलीने बताया कि 6 मार्च को शाम करीब 6 बजे अपने घर के सामने गढ्ढा कालोनी में खड़ी की थी। जो सुबह 8 बजे पर देखा तो मेरी बाईक नहीं मिली।

वाहन चारों का है बोल बाला, पुलिस की गस्त पड़ रही है सुस्त
वाहन चारों का है बोल बाला, पुलिस की गस्त पड़ रही है सुस्त

थाना मुजेसर फरीदाबाद पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सेक्टर 55 निवासी सुरेश कुमार ने बताया कि वह प्राईवेट बिजनैस करता हैं। 9 मार्च को उनका दोस्त राजेन्द्र अपनी गाङी एचआर 46 ई 2091 को लेकर फरीदाबाद आया था। इसी दौरान उनके दोस्त की माता की तबीयत खराब हो जाने के कारण राजेन्द्र गाड़ी को शाम 8 बजे मेरे पास छोङ कर अपने घर चला गया था।

जो गाड़ी को उन्होंने सोहना – बल्लभगढ रोड लखानी कम्पनी के पास खड़ी करवा दी। अगले दिन सुबह करीब 7 बजे आकर देखा तो गाड़ी वहां पर नहीं खड़ी थी। इसके अलावा सिटी थाना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गांव सोतई जलसिंह ने बताया कि 8 मार्च को करीब 8 बजे अम्बेडकर चैक पर स्थित बिकानेर स्वीटस की दुकान पर आया था। जो उन्होंने अपनी बाईक दुकान के साईड में खड़ी करके दुकान के अंदर चले गए।

वाहन चारों का है बोल बाला, पुलिस की गस्त पड़ रही है सुस्त
वाहन चारों का है बोल बाला, पुलिस की गस्त पड़ रही है सुस्त

करीब 15 मिनट के बाद दुकान के बहार आकर देखा, तो मेरी मोटरसाईकिल वहां नहीं मिली। वहीं पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गांव नावादा के रहने वाले विरेन्द्र भाड़ना ने बताया कि वह दूध बेचने का काम करता है। 9 मार्च को शाम 7 बजे उन्होंने अपनी बाइक सैनिक कालोनी के सामने खाड़ी की थी। जो थोडी देर बाद देखा तो मेरी मोटरसाइकिल वहां पर नहीं मिली। पुलिस ने सभी मामले दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है।

Read More

Recent