Pehchan Faridabad
Know Your City

4 दिन की दोस्ती के बीच आया मोबाइल फोन, हत्या कर युवक को फेंका पानी में

क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 ने एक ऐसी हत्या की गुत्थी सुलझाई है जिसमें मोबाइल फोन का लॉक खुलवाने के चलते मृतक और आरोपी में हुई दोस्ती चौथे दिन हत्या का कारण बन गई और आरोपी मोनू ने मृतक विवेक के सिर में पत्थर मारकर उसकी हत्या कर दी थी।

प्रभारी क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 सब इंस्पेक्टर सुमेर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी की पहचान
मोनू पुत्र गजेंद्र सिंह निवासी गांव पिपैहरा उत्तर प्रदेश हाल किराएदार बसेलवा कॉलोनी ओल्ड फरीदाबाद के रूप में हुई है।

पूछताछ पर आरोपी मोनू ने बताया कि वह करीब 6 महीने से अपनी मौसी के बेटा संदीप पुत्र कल्याण के साथ किराये का कमरा बसेलवा कालोनी ओल्ड फरीदाबाद मे रह रहा है और ओल्ड फरीदाबाद व नहर पार के आस पास ई- रिक्शा चलाता है।

दिनांक 28.02.2021 को आरोपी मोनू अपने ई- रिक्शा मे सामान लेकर अमोलिक चौक के पास सै.87 फरी आया था तब आरोपी मोनू की मुलाकात मृतक विवेक से हुई थी। उस समय मृतक विवेक ने बताया कि वह किसी के पास कोई काम सीखने के लिए गोपी कालोनी औल्ड फरीदाबाद जा रहा है आपका कोई जानकार हो तो मेरा काम लगवा दो।

इसी दौरान मृतक विवेक ने आरोपी मोनू को कहा कि मैने अपने मोबाईल फोन पर लाक लगाया था जो मै पासवर्ड भूल गया अगर आप को लाक खोलना आता हो तो मेरे मोबाईल का लाक खोल दो जो आरोपी मोनू ने कहा कि फोन दिखाओ फिर मृतक विवेक ने आरोपी मोनू को अपना मोबाईल फोन दिखाया जो OPPO का अच्छा फोन था।

मोबाईल फोन देखकर आरोपी मोनू के मन मे लालच आ गया और मोबाईल फोन का लाक खोलने का बहाना बनाकर मोबाईल को लेकर अपने पास रख लिया और मोबाईल को बन्द कर दिया और चुपके से विवेक को बिना बताये उसकी सिम तोडकर रास्ते मे फेंक दी। इस दौरान तीन दिनो तक मृतक विवेक आरोपी मोनू के साथ ई- रिक्शा मे ही रहा।

दिनांक 03.03.2021 को मृतक विवेक ने अपना मोबाईल फोन मांगा तो आरोपी मोनू ने विवेक को झूठ बोल दिया कि फोन को लाक खुलवाने के लिए दुकान पर दे रखा है आज शाम को तेरा फोन मिल जायेगा और शाम को करीब 8 बजे आरोपी मोनू, मृतक विवेक को सै 28/29 चौक पर छोडने लगा तो मृतक विवेक ने कहा कि भैया मुझे कल अपने गांव जाना है मुझे अपना मोबाईल फोन आज ही चाहिये मै आपके साथ उस दुकान पर चलूगा जहां आपने मेरा फोन दे रखा है।

आरोपी मोनू ने विवेक को खूब बहकाने की कोशिश की परन्तु विवेक उसी टाईम मोबाईल की जिद करने लगा और रिक्शा से नही उतरा और फोन के लिए रोने लगा, आरोपी मोनू ने सोचा कि कही विवेक मुझे मोबाईल फोन की चोरी मे ना फसा दे तो मोनू ने विवेक को फोन देने का बहाना बनाकर झूठ बोलकर अपने रिक्शा मे बैठाकर सै.17 के पुल से नहर के साथ वाले रास्ते पर लेकर चल दिया।

कुछ दूर जाकर आरोपी मोनू पेशाब करने का बहाना बनाकर सडक के किनारे अपने रिक्शा को रोका और विवेक से पेशाब करने के लिए बोला तो विवेक भी मोनू के साथ पेशाब करने झाडीयो मे आ गया नहर के किनारे बहुत झाडीया थी और पत्थर पडे हुये थे कुछ दूर पानी भी भरा हुआ था।

जैसे ही विवेक पेशाब करने के लिए खडा हुआ तो आरोपी मोनू ने पत्थर उठाकर विवेक के सिर मे पीछे की तरफ मारा विवेक की चीख निकली और विवेक जमीन पर गिर गया आरोपी मोनू ने विवेक का मुंह दबा दिया और वही पर पडे हुए पत्थर विवेक के सिर पर मारे फिर विवेक के पैर पकडकर उसको पानी मे डाल कर फरार हो गया था।

जिस पर थाना खेड़ी पुल में नाम पता ना मालूम आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 को सौंपी गई थी।

उपरोक्त आरोपी मोनू को अपराध शाखा सेक्टर 85 टीम ने दिनांक 08.03.2021 को विशेष सूत्रों से मिली सूचना पर गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल हुई। आरोपी को दिनांक 09.03.2021 को माननीय अदालत में पेश कर 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लेकर आरोपी से मृतक विवेक का मोबाइल फोन ओप्पो, वारदात में प्रयोग ई रिक्शा, वारदात के समय आरोपी मोनू द्वारा पहने हुए कपड़े बरामद कर आज आरोपी का पुलिस रिमांड पूरा होने पर अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More