Pehchan Faridabad
Know Your City

फरीदाबाद से प्रवासी मजदूरों को लगातार उनके राज्यो तक भेजा जा रहा :

कोरोना संक्रमण के कारण लगे लॉक डाउन में विभिन्न प्रदेशों से आए प्रवासी मजदूर फंस गए थे। लॉक डाउन की अवधि बढ़ने व प्रवासी मजदूरों के पास से पैसे खत्म हो जाने के कारण वे अपने घर जाना चाहते थे, लेकिन कोई विकल्प न होने के कारण वे पैदल ही अपने घरों को चल दिए। इसका पता जब सरकार को चला तो सरकार द्वारा अनेक प्रयत्न किए गए और प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए श्रमिक विशेष ट्रेनें चलाई गईं। जिनमें खाने – पीने सहित अनेक सुविधाओं के साथ उनके घरों तक पहुंचाया गया।

फरीदाबाद ओल्ड रेलवे स्टेशन से से आज श्रमिक स्पेशल ट्रेन द्वारा 1600 प्रवासी मजदूरों को फरीदाबाद से कटिहार तक भेजा गया। श्रमिको को फरीदाबाद से लेकर जाने वाली लेकर ये छठी ट्रेन है। आज से पहले भी 5 ट्रेनों द्वारा मजदूरों को उनके घर तक भेजा गया है।

आज भेजी गई मजदूरों की ट्रेन को एसडीएम अमित कुमार व अन्य अधिकारियों ने रवाना किया तथा सभी मजदूरों की सुरक्षित घर पहुंचने की कामना करते हुए उन्हें विदाई दी। एसडीएम ने मजदूरों को विदा करते हुए कहा कि आप सभी अपने परिवार के साथ सुरक्षित व स्वस्थ रूप से घर पहुंचे।

साथ ही उन्होंने कहा कि भविष्य में सामान्य स्थिति होने पर एक बार फिर फरीदाबाद आएं तथा देश की प्रगति व विकास में अपना अहम योगदान दें।उन्होंने कहा कि राज्य सरकार व जिला प्रशासन की ओर से प्रवासी मजदूरों को उनके जिलों में पहुंचाने के लिए बस व रेल का उचित प्रबंध किया जा रहा है

ताकि प्रवासी मजदूरों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े और प्रत्येक मजदूर अपने घर पर सुरक्षित पहुंच सके।आज रवाना कि गई ट्रेनों में निजी संस्थाओं द्वारा सभी यात्रियों के लिए खाने पीने की किट का इंतजाम किया गया। साईं धाम जी सेवा दाल द्वारा पानी की बोतल का इंतजाम किया गया तथा रेड क्रॉस द्वारा सभी यात्रियों को चने और बिस्किट दिए गए।

एसडीएम ने बताया कि हरियाणा सरकार की ओर से बनाए गए ई-दिशा पोर्टल पर पंजीकरण करवाने वाले प्रवासी मजदूरों को फोन के माध्यम से सूचना देकर शेल्टर होम में इकट्ठा किया जाता है, जहां पर सभी की मेडिकल जांच होती है तथा उन्हें मेडिकल प्रमाण पत्र दिया जाता है। इसके बाद सोशल डिस्टेंसिंग व अन्य हिदायतों की पालना करते हुए सभी यात्रियों को रेलवे स्टेशन पर लाकर सुविधाजनक तरीके से ट्रेन में बैठाकर उनको उनके राज्यों तक भेजा जाता है।

अब तक करीब 300 से अधिक बसें व छह ट्रेनों द्वारा अधिक प्रवासी मजदूरों को फरीदाबाद के विभिन्न राज्यों व जिलों के लिए रवाना की जा चुकी हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रवासी मजदूरों को पैदल नहीं चलना चाहिए, बल्कि उन्हें ई-दिशा पोर्टल पर पंजीकरण कराना चाहिए तथा इसके बाद सुविधाओं सहित सरकार द्वारा उन्हें उनके घर तक भेजा जाएगा। इस अवसर पर डीएसपी सीआईडी मनीष सहगल, एरिया ऑफिसर एवं नोडल अधिकारी मधुकांत कुमार उपस्थित थे।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More