Pehchan Faridabad
Know Your City

दुध दही की लहर में डुबा होगा अब हरियाणा एनसीआर में इन जगहों पर होगा दुग्ध संयंत्र

किसानों के विरोध और महामारी के बीच, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कृषि और स्वास्थ्य क्षेत्रों पर ध्यान देने के साथ 1,55,645 करोड़ रुपये का राज्य बजट प्रस्तावित किया।

विधान सभा में बोलते हुए, खट्टर ने कहा कि उनकी सरकार “अपने किसानों की ऋणी थी, जिनकी मेहनत और लगन ने हरियाणा को देश के भोजन का भंडार बना दिया है।” इतना ही नही उन्होंने राज्य के लिए आर्थिक सुधार का प्रस्ताव भी रखा।

साथ ही पशुओं की सेहत और सुरक्षा की गारंटी देने की घोषणा की है। अभी तक की सरकारों में पशुधन से संबंधित परियोजनाओं से वंचित रखे गए दक्षिण हरियाणा को दो दुग्ध संयंत्रों का तोहफा मुख्यमंत्री ने दिया है।

बजट में मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा घोषित एक एनसीआर को कवर करेगा। जिसकी पैकिंग क्षमता तीन लाख लीटर की होगी। दूसरा संयंत्र जिला भिवानी के गांव शेरला में स्थापित किया जाएगा। गाय और भैंसों की तर्ज पर भिवानी के ही लोहारू में बकरी प्रजनन केंद्र खोला जाएगा।

गऊ संवर्धन योजना

बेसाहरा गाय जो सड़को पर यहां वहां घूमती हुई कचरा निगल लेती है उन गायों के संवर्धन के लिए गऊ संवर्धन योजना शुरु करने की घोषणा की गई है, जिसके लिए वर्ष 2021-22 में 50 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।

हरियाणा में 70 लाख पशुधन हैं। मुख्यमंत्री ने इनके लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय सामूहिक पशुधन बीमा योजना का विस्तार करके पशुओं का बीमा कर सुरक्षा गारंटी देने की घोषणा की है।

इस योजना का पात्र होने के लिए अनिवार्य रूप से पशुओं के कान पर 12 अंकों का आइडी वाला टैग लगवाना होगा। पशुधन और पोल्ट्री रोग डायग्नोस्टिक सेवाओं के लिए हिसार, सोनीपत और पंचकूला में तीन बायो सेफ्टी लेवल-2 प्रयोगशालाओं की स्थापना की जाएगी।

किसानों की आय दोगुनी

खट्टर ने कहा कि उनकी सरकार किसानों की आय दोगुनी करने और उनकी भलाई सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है।

उन्होंने मृदा स्वास्थ्य और फसल विकल्पों, फसल अवशेष प्रबंधन, फसल विविधीकरण, शून्य बजट खेती, जैविक और प्राकृतिक खेती, और खरीद में सहायता करने के लिए योजनाओं की एक लिस्ट की घोषणा की।

मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान अभियान

उन्होंने हरियाणा के सबसे गरीब एक लाख परिवारों के लिए मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान अभियान भी शुरू किया।

यह छाता योजना, जिसमें सभी सरकार के कल्याणकारी कार्यक्रम शामिल हैं, प्रत्येक परिवार को शिक्षा, कौशल विकास, मजदूरी रोजगार, स्वरोजगार और अन्य लोगों के बीच रोजगार सृजन सहित उपायों का एक पैकेज देगा ताकि उनका आर्थिक उत्थान हो सके ताकि एक न्यूनतम आर्थिक सीमा तक पहुंच सके।खट्टर ने कहा योजना अंत्योदय के सिद्धांत पर बनाई गई है ।

Written by: Isha singh

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More