Pehchan Faridabad
Know Your City

बेजुबान पशुओं की पीड़ा समझना और उनकी सेवा करना सबसे बड़ा धर्म : कृष्ण पाल गुर्जर

फरीदाबाद, 13 मार्च: केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने शनिवार को गांव नीमका की गौशाला में पशु चिकित्सालय का लोकार्पण किया। यहां अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि बेजुबान पशु, पक्षियों की सेवा करने से मन और आत्मा को शांति मिलती है।

मैंने विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों, स्कूलों, सामुदायिक भवनों, सड़कों, गलियों, नहरों, ओवरब्रिज सहित तमाम विकास कार्यों के उद्घाटन और लोकार्पण किए हैं, परंतु मुझे आज पशु चिकित्सालय/ ऑपरेशन सैन्टर का उद्घाटन करने में सबसे ज्यादा खुशी हो रही है।
उन्होंने कहा कि बेजुबान पशुओं की पीड़ा जानकर उनकी सेवा करना और उनके दुख को दूर करना सबसे बड़ा धर्म है।

मनुष्य की सेवा करना भी नर सेवा नारायण सेवा के बराबर है परंतु बेजुबान पशु, पक्षियों की सेवा करना भी इसे कम नहीं है। यह हमारी भारतीय संस्कृति की पुरानी पहचान भी है।
उन्होंने कहा कि आधुनिक भौतिक युग में और 21वीं सदी के विकास में हम प्राचीनतम भारतीय संस्कृति का अनुसरण करके उन्नति की ओर बढ़ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पहली रोटी गाय की दूसरी रोटी अन्य पशुओं की और प्रातः उठते ही पक्षियों को दाना डालना, पशुओं बेसहारा पशुओं को चारा डालना हमारी पुरानी भारतीय संस्कृति की पहचान है।उन्होंने कहा कि नीमका की गौशाला में सर्वोदय फाउंडेशन द्वारा देवाश्रय पशु चिकित्सालय का जो उद्घाटन किया है।

वह फरीदाबाद और फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र के लिए बेजुबान पशुओं की निशुल्क सेवा करने का पहला बेसहारा पशुओं का आश्रय बनाया गया है। केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि कोई भी जन आंदोलन आमजन की भागीदारी के बिना सफल नहीं हो सकता।

उन्होंने आमजन को अपील करते हुए कहा कि वे पशु और पक्षियों के लिए भी अपनी दिनचर्या का कुछ हिस्सा निकालकर दाने, पानी तथा अन्य सेवाओं के लिए सहयोग अवश्य दें। उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि डॉ अंशु गुप्ता के नेतृत्व में सर्वोदय फाउंडेशन द्वारा जिला फरीदाबाद और फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र में आमजन का हेल्थ चेकअप के भी कैंप आयोजित किए जाएंगे।

उन्होंने आमजन से अपील करते हुए कहा कि वे बुजुर्गों को हेल्थ चेकअप शिविरों में लाना सुनिश्चित करें। ताकि उनकी बीमारियों का निवारण उनके घरों पर ही किया जा सके।इस अवसर पर केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने गौशाला और पशु चिकित्सालय के लिए जमीन देने पर समस्त नीमका वासियों और नीमका ग्राम पंचायत का आभार प्रकट भी किया।

उन्होंने धन्यवाद करते हुए कहा कि बेजुबान पशुओं की सेवा के इस कार्य में प्रत्येक नीम का वासी की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी।
उन्होंने नीमका की गौशाला में गोबर से बनने वाली हवन सामग्री, मूर्तियां छोटे-छोटे पौधों के लिए गमले, गोबर के डंडे और वर्मीकूल जैविक खाद, दीपक तथा अन्य कमर्शियल पदार्थों का बारीकी से निरीक्षण किया।

इसके अलावा कोपैथी व गोमूत्र से बनाए जाने वाले धनवंतरी दवाओं और अन्य प्रोडक्टों का भी निरीक्षण किया।
इस अवसर पर आयकर अधिकारी जेपी गुप्ता, डॉ डीके शर्मा, डॉ अंशु गुप्ता ने भी उपस्थित लोगों को संबोधित कर नीमका गौशाला के पशु चिकित्सालय में बेसहारा पशुओं को निशुल्क दी जाने वाली सुविधाओं के बारे विस्तार पूर्वक जानकारी दी।

डॉ अंशु गुप्ता ने स्वास्थ्य जन चेतना द्वारा चलाए जा रहे आमजन की भागीदारी के लिए प्रोग्रामों की भी विस्तार पूर्वक जानकारी दी। उन्होंने आए हुए सभी मेहमानों का तहे दिल से आभार प्रकट कर धन्यवाद करके स्वागत किया।


इस मौके पर पशुओं के लिए चलाए जा रहे जागरूकता अभियान और बेसहारा पशुओं के चिकित्सीय उपचार पर साम्भर्य फाउंडेशन की नाटक मंडली द्वारा नाटक की भी प्रस्तुति की गई।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More