Pehchan Faridabad
Know Your City

अरे साहब अभी तो किया था आपने उद्घाटन, 15 दिनों में दिखने लगे गड्ढे

भले ही सरकार पूरे जद्दोजहद के साथ विकास के कार्यों में जान झोंकने में लगी हुई है। वहीं दूसरी तरफ नगर निगम के अधिकारी से लेकर कर्मचारी सरकार की मेहनत पर पूरी तरह पानी फेरने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ते दिखाई दे रहे है।

एक तरफ जहां जनप्रतिनिधि हो या फिर प्रशासन हर मुमकिन कोशिश कर रही है कि आमजन को मूलभूत सुविधाएं जैसे सड़क, सीवर, नानी के पास से लेकर पानी की समस्या से निजात दिला सकते हैं। वहीं दूसरी तरफ नगर निगम के अधिकारी व कर्मचारी मिलकर सरकार के मंसूबों को पलीता लगा रहे हैं।

इसी कड़ी में राष्ट्रीय राजमार्ग पर बने सीकरी फ्लाईओवर का उद्घाटन 27 फरवरी को केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर और परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा द्वारा किया गया था, ताकि यहां से आवागमन के मार्ग को सरल बनाया जा सकें।

बताते चलें कि आवागमन को अभी महज 15 दिन भी नही हुए थे कि पुल की सड़क जर्जर होने लगी है। जहां-जहां सड़क टूटने लगी है, वहां कुछ दिन बाद गड्ढे बनने शुरू हो जाएंगे और हादसे का कारण बनेंगे। जो रोड़ी उखड़ी है, वो किनारों पर जमा हो गई है।

गौरतलब, उक्त पुल से प्रतिदिन आवागमन करने वाले वाहन चालको का कहना है कि उद्घाटन के चार दिन बाद ही सड़क उखड़नी शुरू हो गई थी, तब मरम्मत कर दी गई थी। अब फिर सड़क जर्जर हो गई है।

स्पष्ट है कि निर्माण कार्य में किस तरह की सामग्री का इस्तेमाल किया गया है। आरटीआइ कार्यकर्ता संदीप ने सड़क निर्माण पर सवाल उठाते हुए कहा कि इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए और संबंधित कंस्ट्रक्शन कंपनी पर कार्रवाई होनी चाहिए।

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के परियोजना प्रबंधक धीरज सिंह का उक्त मामले में कहना है कि फिलहाल उन्हें इस बाबत कोई भी जानकारी प्राप्त नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा है तो वह स्वयं पुल पर जाकर निरक्षण करेंगे।

यद्यपि कर्मचारी की किसी भी प्रकार की लापरवाही सामने आती है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। वही उन्होंने कहा कि जहां से सड़क जर्जर हो रही है, उसे पुन निर्माण किया जाएगा।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More