Online se Dil tak

क्या इस बार भी गर्मियों में लोगों को जूझना पड़ेगा पानी की किल्लत से या नगर निगम करेगा विशेष उपाय?

नगर निगम ने गर्मियों को लेकर अपनी तैयारियां करनी शुरू कर दी है। निगम ने जिले के ट्यूबवेलों का सर्वे कराया। इसमें 200 ट्यूबल खस्ता हालातों में पाए गए है।

दरअसल, गर्मियों का आगाज होते ही जिले में पानी की किल्लत शुरू हो गई है। गर्मियों में अलग-अलग इलाकों में ट्यूबवेल खराब होने और रेनीवेल के पानी की ठीक से सप्लाई होने ना होने की खबरें आती रहती हैं ऐसे में इस बार गर्मियों में लोगों को पानी की किल्लत का सामना ना करना पड़े इस को लेकर नगर निगम ने अभी से ही अपनी तैयारियां करनी शुरू कर दी है।

क्या इस बार भी गर्मियों में लोगों को जूझना पड़ेगा पानी की किल्लत से या नगर निगम करेगा विशेष उपाय?
क्या इस बार भी गर्मियों में लोगों को जूझना पड़ेगा पानी की किल्लत से या नगर निगम करेगा विशेष उपाय?

नगर निगम ने जिले के ट्यूबवेलों का सर्वे कराया जिसमें से 200 ट्यूबल खस्ता हालात में पाए गए। नगर निगम ने ट्यूबवेलों को दुरुस्त करने के लिए टेंडर भी जारी कर दिया है। इन ट्यूबवेलों के दुरुस्त होने के बाद करीब 10 एमएलडी पानी अतिरिक्त मिलना शुरू हो जाएगा।


नगर निगम के मुख्य अभियंता रामजीलाल ने बताया कि खराब ट्यूबवेलों को ठीक करने के लिए टेंडर छोड़े गए हैं। इसके टेंडर खुल रहे हैं, उसका काम शुरू कर दिया गया है। हमारा लक्ष्य है कि 1 महीने में सभी ट्यूबवेलों को दुरुस्त कर दिया जाएगा ताकि किसी भी क्षेत्र में पानी की समस्या उत्पन्न ना हो।

क्या इस बार भी गर्मियों में लोगों को जूझना पड़ेगा पानी की किल्लत से या नगर निगम करेगा विशेष उपाय?
क्या इस बार भी गर्मियों में लोगों को जूझना पड़ेगा पानी की किल्लत से या नगर निगम करेगा विशेष उपाय?


आपको बता दें कि नगर निगम के अंतर्गत आने वाले वार्डों में गर्मी के आगाज से पहले ही लोगों ने पानी की आपूर्ति को लेकर नगर निगम में प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है वही शहर भर के कुछ हिस्सों में सीवर के गंदे पानी की सप्लाई की जा रही है जिसको लेकर भी लोग नगर निगम में शिकायत कर रहे हैं परंतु शिकायत के बावजूद भी अभी तक निगम के द्वारा कोई ठोस कार्यवाही नहीं की गई। प्राइवेट टैंकरों का सहारा लेते हैं।

Read More

Recent