HomeCrimeअलमारी का ताला ठीक करवाना पड़ा महंगा, चोरी कर फरार हुआ ताले...

अलमारी का ताला ठीक करवाना पड़ा महंगा, चोरी कर फरार हुआ ताले वाला

Published on

अक्सर हमारे घर में अलमीरा का ताला खराब हो जाता है और उसको ठीक करवाने के लिए हम किसी जानकार की बजाए। सेक्टर व गांव की गलियों में आने वाले व्यक्ति से ही ताले को ठीक करवाने लगते हैं।

लेकिन वह व्यक्ति ताले को ठीक करते करते आपके घर से लाखों रुपए की चोरी करके फरार हो जाता है और उसके बारे में आपको पता भी नहीं चलता है।

अलमारी का ताला ठीक करवाना पड़ा महंगा, चोरी कर फरार हुआ ताले वाला

ऐसा ही एक मामला फरीदाबाद में देखने को मिला है।  सेक्टर 10 के रहने वाली कमला गुप्ता ने बताया कि वह अपने पति के साथ ग्राउंड फ्लोर पर अकेले रहती है। वह उसकी एक बेटी है जो कि विधवा है। वह घर की पहली मंजिल पर रहती है।

7 मार्च को एक सरदार ताला ठीक करने वाला दोपहर को करीब 1:00 बजे उनकी गली में आया। उस सरदार की उम्र करीब 40 साल थी। वह साइकिल पर गली में आवाज लगा रहा था, कि ताला ठीक करवा लो। उसके बाद सरदार कारीगर को अपने अलमीरा का ताला ठीक कराने के लिए घर के अंदर बुला लिया है।

अलमारी का ताला ठीक करवाना पड़ा महंगा, चोरी कर फरार हुआ ताले वाला

सरदार ने मुझे और मेरे पति को देखा कि वह घर पर अकेले हैं। फिर पता नहीं उसने हम दोनों पर क्या जादू किया कि वह जो भी कहता रहा हम दोनों उसकी बातों  को मानते रहे। सरदार ने हमसे चाबी मांगी हमने  उसको चाबी लाकर दे दी।

सरदार करीब 3 घंटे तक ताला ठीक करने का ड्रामा करता था और शाम को करीब 4:30 बजे अलमीरा का ताला लगाकर और ताले की चाबी को खराब करके बोला कि ताले का लीवर खराब है। मैं अभी 1 घंटे में नया लीवर लेकर आता हूं।

अलमारी का ताला ठीक करवाना पड़ा महंगा, चोरी कर फरार हुआ ताले वाला

उसके बाद ही ताला ठीक करता हूं। मैंने उस दिन उसका शाम तक इंतजार किया, लेकिन वह अगले दिन सुबह 10:00 बजे तक भी नहीं आया। तो उनको शक हुआ तो उन्होंने 8 मार्च की सुबह 10:00 बजे सेक्टर 7 से दूसरा कारीगर को बुलाया और ताला खुलवाया। कारीगर के जाने के बाद अलमारी का ताला खोलकर देखा, तो अलमीरा का बाहर वाला लॉकर खुला हुआ है।

लॉकर के अंदर वाला लॉकर देखा तो वह भी खुला हुआ था। मेरे अंदर वाले लॉकर में दो डिब्बे के अंदर दो पर्स में मेरे सारा सोना रखा हुआ था। जिस डिब्बे में सोना था वह भी बाहर वाले लॉकर में नहीं था। जिन पर उसमें मेरा सोना था। वह दोनों पर्स गायब थे। जिसमें  मेरा शादी के समय का पूरा सोना रखा हुआ था।

वह ताला वाला सरदार चोरी करके दोनों पर्स को अपने साथ ले गया। जिसमें एक हार जो कि 7 तोले का था, दो कानों के झुमके, दो अंगूठी, एक नाक की नथ व  दूसरे पर्स में एक कमर बंद था। वह दोनों पर्स को लेकर सरदार चोर फरार हो गया। पुलिस ने सरदार चोर के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है।

Latest articles

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

More like this

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...