Pehchan Faridabad
Know Your City

अब नगर निगम करेगा रद्दी को रीसाइकल, निगमायुक्त ने दिए दिशा निर्देश

नगर निगम के आयुक्त यशपाल यादव के निर्देशानुसार नगर निगम ने एक बड़ा कदम उठाते हुए निगम में रद्दी (वेस्ट कागज) की टोकरी में फेंके जाने वाले कागजों, मैंगजीन, न्यूज पेपर नियमानुसार नष्ट करने योग्य पुराना रिकार्ड, पुस्तकें, कार्ड, बोर्ड बाॅक्सिस, पुराने फाईल कवर को अब पहले की तरह कूड़ेदानों में डालने की बजाय इन्हें रिसाइकलिंग सिस्टम के माध्यम से पुनः उपयोग में लाने का निर्णय लिया है और इसकी विधिवत शुरूआत निगम मुख्यालय की विभिन्न शाखाओं में आज कर दी गई है।

निगमायुक्त यशपाल यादव ने आज यहां बताया कि इस कार्य के लिए नगर निगम प्रशासन ने ग्रीन ओबीन रिसाइकलिंग प्राईवेट लिमिटेड गुड़गावां को दो साल के लिए अधिगृहित किया है। यह कंपनी नगर निगम के सभी कार्यालयों और उपायुक्त कार्यालय से सभी प्रकार से रद्दी (वेस्ट पेपर) एकत्रित करेगी और इसके बदले में कागजों के नये रिम देगी।

इस योजना का यह लाभ होगा कि जहां वेस्ट पेपर के पुनउपयोग को बढ़ावा मिलेगा साथ ही लैंडफील साईट पर कागज भी नहीं जाएगा। इसके अलावा नगर निगम कार्यालयों में कागज एवं स्टेशनरी की खपत पर होने वाले खर्च में भी कमी आएगी। वेस्ट पेपर के बदले नगर निगम को फ्रैश कागज एवं स्टेशनरी मिलेगी। इस कार्यक्रम की शुरूआत करने से निगम कार्यालयों में वेस्ट पेपर को रखने की अलग से व्यवस्था होगी।

निगम मुख्यालय में कंपनी के द्वारा इस युक्त योजना के शुभारंभ के अवसर पर निगम प्रशासन की ओर से अतिरिक्त निगमायुक्त इन्द्रजीत कुलड़िया और अन्य अधिकारी, कंपनी की ओर से इसके अधिकृत प्रतिनिधि विनय कुमार उपस्थित थे। श्री कुलड़िया ने इस अवसर पर बताया कि इस योजना के सफल कार्यान्व्यन के लिए निगम प्रशासन की ओर से क्रय अधिकारी पदम सिंह ढाड़ा और उपायुक्त कार्यालय की ओर से सिटी मजिस्ट्रेट मोहित कुमार को अधिकृत किया गया है।

अतिरिक्त निगमायुक्त ने बताया कि कंपनी द्वारा 100 किलोग्राम रद्दी (वेस्ट कागज) के बदले में 47 रिम कागज कंपनी के द्वारा निगम कार्यालय और उपायुक्त को दिए जाएंगे।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More